मेट्रो रेल से लेकर ताजमहल तक-बकरवाल बच्चे सब देखेंगे

मेट्रो रेल से लेकर ताजमहल तक-बकरवाल बच्चे सब देखेंगे

       भारतीय सेना के उप प्रमुख ले0 जन0 सुशील गुप्ता ने आज यहां बकरवाल जनजाति के 25 बच्चों को सुखद अनुभूति का अहसास कराया ।

      भेड़ बकरियां चराना इस जनजाति का पेशा है और अपने पेशे की वजह से लोग घूमंतू जीवन बिताते हैं । चारागाहों की तलाश में ये जम्मू-कश्मीर में एक स्थान से दूसरे स्थान को घूमते ही रहे हैं । इस वजह से इनके बच्चों को कोई औपचारिक शिक्षा या स्कूली शिक्षा नहीं मिल पाती । इसलिए, सेना ने इनके वास्ते उत्तरी भारत के भ्रमण का आयोजन किया है ।

      भ्रमण के दौरान बच्चे ऐतिहासिक स्थलों के अलावा करनाल में राष्ट्रीय डेयरी, जलंधर में जेसीटी मिल देखने जाएंगे । इसके अलावा ये बच्चे जम्मू, अंबाला, नई दिल्ली और आगरा भी जाएंगे ।

      ये बच्चे 13 से 16 वर्ष की आयु के हैं । ले0 जन0 गुप्ता के साथ बातचीत के दौरान इन बच्चों ने बताया कि उन्हें पहली बार ट्रेन से यात्रा करने का मौका मिला है । उन्हें मेट्रो रेल और ऐतिहासिक जगहों को देखकर बहुत अच्छा लगा है । अब वे ताजमहल देखना चाहते हैं ।

      ले0 जन0 गुप्ता ने बच्चों से राष्ट्र हित में काम करने को कहा ।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

संजय दत्त यदि अभिनेता के बजाए नेता होते

आज विद्युत बंद रहेगी

डी.एड के लिए शिक्षकों के नाम भेजें