पोस्ट

अगस्त 12, 2007 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

कमिश्नर-कलेक्टर्स कान्फ्रेंस स्थगित

कमिश्नर-कलेक्टर्स कान्फ्रेंस स्थगितसंजय गुप्‍ता (मांडिल) ब्‍यूरो चीफ मुरैना मुरैना 18 अगस्‍त07 । मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में आयोजित होने वाली समस्त संभागीय आयुक्तों और जिलाध्यक्षों की कान्फ्रेंस अपरिहार्य कारणों से स्थगित कर दी गई है। यह कान्फ्रेंस 20 और 21 अगस्त, 2007 को नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण कार्यालय के कान्फ्रेंस हॉल में आयोजित की गई थी।

कालेज जनभागीदारी समिति ने विकास की मिसाल कायम की है-श्री कोठारी

कालेज जनभागीदारी समिति ने विकास की मिसाल कायम की है-श्री कोठारीप्रभारी मंत्री द्वारा सामुदायिक आडिटोरियम एवं प्रयोगशाला भवन का शिलान्याससंजय गुप्‍ता (मांडिल) ब्‍यूरो चीफ मुरैना मुरैना 18 अगस्‍त07 । वन एवं परिवहन तथा मंदसौर जिले के प्रभारी मंत्री श्री हिम्मत कोठारी ने राजीवगांधी शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय मंदसौर में 53 लाख 25 हजार रूपये की लागत के सामुदायिक आडिटोरियम भवन के शिलान्यास समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि जनभागीदारी समिति ने शासन एवं जनसहयोग से विकास की मिसाल कायम की है। जनभागीदारी से कालेज में अनेक निर्माण कार्य हुए हैं। यह एक बड़ी उपलब्धि है। कार्यक्रम की अध्यक्षता विधायक एवं जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष श्री ओमप्रकाश पुरोहित ने की।इस अवसर पर प्रभारी मंत्री श्री कोठारी ने महाविद्यालय प्रांगण में 7लाख 43 हजार रूपये की लागत से बनने वाले प्रयोगशाला भवन का भूमिपूजन कर शिलान्यास भी किया। प्रभारी मंत्री ने इस अवसर पर बताया कि 1059 करोड़ रू. की लागत से नयागांव-लेबड़-बेटमा फोरलेन मार्ग का अनुबन्ध हो गया है और शीघ्र ही कार्य प्रारंभ हो जाएगा। दो वर्ष में इस फोरलेन म…

जननी सुरक्षा योजना के दो साल पूरे: साढ़े छ: लाख महिलाओं ने लाभ उठाया

जननी सुरक्षा योजना के दो साल पूरे: साढ़े छ: लाख महिलाओं ने लाभ उठायासंजय गुप्‍ता (मांडिल) ब्‍यूरो चीफ मुरैना मुरैना 18 अगस्‍त07 । मध्यप्रदेश में संस्थागत प्रसव को बढ़ाने के लिए संचालित की जा रही जननी सुरक्षा योजना का लाभ अब तक छ: लाख 57 हजार 331 गर्भवती महिलाओं ने उठाया है। राज्य में 15 अगस्त 2005 से प्रारंभ हुई इस योजना को लागू हुए दो साल पूरे हो गये हैं। यह योजना शहरों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी निरंतर सफल हो रही है।जननी सुरक्षा योजना के तहत एक अप्रैल 2006 से 31 मार्च 2007 की अवधि तक तीन लाख 97 हजार 442 महिलाएं लाभान्वित हुई थी। बाद में एक अप्रैल 2007 से 30 जून तक कुल एक लाख 89 हजार 7 महिलाओं ने इस योजना का लाभ उठाया है।मुख्य बिन्दु

अपर ककेटो बांध के निर्माण से ग्रामीणों को कठिनाई नहीं होगी

अपर ककेटो बांध के निर्माण से ग्रामीणों को कठिनाई नहीं होगीमुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा आश्वासनसंजय गुप्‍ता (मांडिल) ब्‍यूरो चीफ मुरैना मुरैना 18 अगस्‍त07 । मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि श्योपुर जिले में पार्वती नदी पर बनने वाले बांध से स्थानीय ग्राम वासियों को कठिनाई न हो, यह सुनिश्चित किया जाएगा। बांधों के निर्माण में विस्थापन स्वाभाविक रूप से होता है लेकिन लोग कम संख्या में विस्थापित हों और उनका उचित पुनर्वास हो, इस पर पूरा ध्यान दिया जाएगा।मुख्यमंत्री श्री चौहान ने यह आश्वासन आज यहां उनसे मिलने आए ग्राम वासियों को दिया। मुख्यमंत्री से श्योपुर जिले के सात ग्रामों के जनप्रतिनिधियों ने विधायक श्री रामनिवास रावत के नेतृत्व में भेंट की। मुख्यमंत्री को ककेटो बांध के बनने से डूब क्षेत्र की समस्या की जानकारी दी गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान से आग्रह किया गया कि प्रस्तावित बांध पूर्व निर्धारित स्थान पर ही बनाया जाए। नए स्थल चयन के कारण ज्यादा गांवों की आबादी प्रभावित होगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रतिनिधि मंडल को आश्वस्त किया कि आवश्यक विचार-विमर्श के बाद इस संबं…

देशज परम्पराओं से ही होगा खेती-किसानी और गाँवों का विकास

देशज परम्पराओं से ही होगा खेती-किसानी और गाँवों का विकासकृषि मंत्री चौ. चन्द्रभान सिंह द्वारा राष्ट्रीय संगोष्ठी को संबोधनसंजय गुप्‍ता (मांडिल) ब्‍यूरो चीफ मुरैना मुरैना 18 अगस्‍त07 । मध्यप्रदेश गौपालन एवं पशु संवर्धन बोर्ड द्वारा आयोजित गौविज्ञान, जैविक खेती तथा पंचगव्य पर आयोजित तीन दिवसीय संगोष्ठी के दूसरे दिन मुख्य अतिथि कृषि मंत्री चौधरी चन्द्रभान सिंह ने कहा कि भारतीय ग्रामीण परिस्थितियों में देशज और पारम्परिक प्रविधियों के जरिये ही खेती-किसानी और गांवों की तरक्की की जा सकती है। पूर्व में उन्होंने दीप जलाकर दूसरे दिन के तकनीकी सत्र का शुभारंभ किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कानपुर गौशाला के महामंत्री श्री पुरुषोत्तम तोषणीवाल ने की।कृषि मंत्री ने कहा तत्काल लाभ के लालच में हमने रासायनिक खेती का जो रास्ता पकड़ा था उसका अंत किसानों की आत्महत्याओं के रूप में सामने आया है। उन्होंने कहा कि हमारे गांवों में हमारा पशुधन ही विकास का मुख्य आधार है, जबकि स्थिति यह आ चुकी है कि आज भारत की तुलना में विदेशों में गाय को ज्यादा महत्व दिया जा रहा है। कृषि मंत्री श्री चौधरी ने मुख्यमंत्री द…

अजा-जजजा विद्यार्थियों को पी.एच.डी. के लिये छात्रवृत्ति योजना जारी रखने का निर्णय

अजा-जजजा विद्यार्थियों को पी.एच.डी. के लिये छात्रवृत्ति योजना जारी रखने का निर्णयसंजय गुप्‍ता (मांडिल) ब्‍यूरो चीफ मुरैना मुरैना 18 अगस्‍त07 । उच्च शिक्षा विभाग ने शिक्षा सत्र 2007-08 में भी विश्वविद्यालयों तथा महाविद्यालयों में अध्ययन रत अनुसूचित जाति तथा जनजाति के विद्यार्थियों को पी.एच.डी. के लिये छात्रवृत्ति योजना जारी रखने का निर्णय लिया है। छात्रवृत्ति के लिये आवेदन पत्र 31 अक्टूबर 2007 तक आमंत्रित किये गये है। प्राप्त आवेदन पत्रों की मेरिट सूची संकायवार बनाई जायेगी। इस योजना के नियम#मार्गदर्शन सिध्दांत भी जारी किये गये है। योजना की जानकारी विभाग की वेबसाइट पर भी उपलब्ध है।पात्रता की शर्तो में ऐसा उम्मीदवार जो मध्यपदेश का मूल निवासी हो जिसने पी.एच.डी. के शोध कार्य के लिये भारत की किसी भी विश्वविद्यालय में शोध उपाधि समिति में साक्षात्कार के उपरांत पंजीयन लिया हो, पंजीयन प्रमाण-पत्र विश्वविद्यालय द्वारा जारी किया गया हो, स्नातकोत्तर उपाधि में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के नियमानुसार अनुसूचित जाति#अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों ने निर्धारित न्यूनतम अर्हकारी अंक प्राप्त क…