पोस्ट

सितंबर 16, 2007 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

कऊन ससुरा कहत है, राम सेतु मानव निर्मित होवे है

व्‍यंग्‍य कऊन ससुरा कहत है, राम सेतु मानव निर्मित होवे हैचचा तो बुढ़ापे में पक के टपकन की तैयार में पहिले से ही बैठा है, उधर ससुरे हिन्‍दूवादी अलग लंगोट कसे फिरे हैं कि चचा से कुश्‍ती हो जाये । ई चचा भी कौन कम बैठे हैं, ठोक दीं ताल कि आजा आडवाणी हो जाये दो दो हाथ । आडवाणी बब्‍बा प्राइम मिनिस्‍टरी का टिकिट कटा के नंबर लगावन में बिजी हैं । ऐसे में चचा की ताल और लंगोट का पंगा । मुसीबत है ससुरी, छुटटी पा ली कह के कि चचा तो ससुरा मानसिक संतुलनवा खो बैठा है । गोया पगलवा गया है । चचा पे खबर सरकी तो चचा और उबल गया अरे उबल के खदक गया । बोला ससुरा ई सेतु वेतु कुछ नहीं होना मांगता, ई तो ससुरा मानव निर्मित ही नहीं है तो ऐतु सेतु फेतु आटोमेटिकली क्रियेटेड होना मांगता । जैसे मॉं के पेट में बच्‍चा अपने आप बन जाता वैसे ही समन्‍दर भीतर ई सेतु फेतु आटोटिक बन जाता । ई साफी चुटिया वाला फोकट भभ्‍भर करता, टेंशन देता, साला लम्‍बा चौड़ा करूड़वा अरबवा का प्रोजेक्‍ट रूकवाता, वेरी बेड वेरी बेड । अरे ससुरा ई कोई राम वाम क्‍या होवे है, बाल्‍मीक जी बोले हैं कि दारू में धुत्‍त रहवे है । अयोध्‍या में दस…

तनवीर जांफरी हरियाणा साहित्य अकादमी के सदस्य पुन: मनोनीत

तनवीर जांफरी हरियाणा साहित्य अकादमी के सदस्य पुन: मनोनीतअम्बाला (ग्‍वालियर टाइम्‍स) 19 सितम्बर, प्रख्यात लेखक एवं स्तम्भकार तनवीर जांफरी को हरियाणा साहित्य अकादमी की शासी परिषद का पुन: सदस्य मनोनीत किया गया है। हरियाणा सरकार द्वारा जारी एक अधिसूचना के अनुसार नई शासी परिषद का कार्यकाल दो वर्ष का होगा। तनवीर जांफरी को अकादमी की शासी परिषद के पिछले कार्यकाल में भी दो वर्ष तक अकादमी की सेवा करने का अवसर मिला था।अम्बाला शहर के तनवीर जांफरी एक प्रख्यात लेखक व स्तम्भकार हैं। जांफरी के स्तम्भ नियमित रूप से देश के अनेकों प्रमुख समाचार पत्रों के अतिरिक्त कई अमेरिकी यूरोपीय व एशियाई देशों के समाचार पत्रों पत्रिकाओं व न्यूंज पोर्टल्स में प्रकाशित होते हैं। राष्ट्रीय व अर्न्तराष्ट्रीय राजनीति, साम्प्रदायिकता एवं आतंकवाद का विरोध, धर्म निरपेक्षता, विश्व शांति तथा सामाजिक व साम्प्रदायिक सौहार्द्र आदि जांफरी की लेखनी के प्रमुख विषय होते हैं।जांफरी के अतिरिक्त अम्बाला छावनी के वरिष्ठ साहित्यकार डा. लीलाधर वियोगी (पूर्व विभागाध्यक्ष एस डी कॉलेज, अम्बाला छावनी) को भी इस बार अकादमी की शासी प…

दासमुंशी ने सिमकॉन-26 का उद्धाटन किया

दासमुंशी ने सिमकॉन-26 का उद्धाटन कियाप्रसारण विषय-वस्तु की निगरानी प्रणाली के लिए राज्यों का सहयोग मांगा सूचना तथा प्रसारण और संसदीय कार्य मंत्री श्री पी.आर.दासमुंशी ने आज यहां 26वें सिमकॉन सम्मेलन का उद्धाटन किया । अपन सम्बोधन में उन्होंने कहा कि इस सम्मेलन से हमें देश के सूचना तथा मनोरंजन उद्योग में अतिक्रमण करने वाले मुद्दों पर एक दूसरे के विचारों को समझने का अवसर मिला है । श्री दासमुंशी ने आशा जताई कि टीवी चैनलों द्वार प्रसारित कार्यक्रमों और विज्ञापनों की जिला तथा स्थानीय स्तर पर निगरानी के लिए पिछले सिमकॉन में प्रस्तावित निगरानी समिति प्रणाली के अपेक्षित परिणाम मिले होंगे । मंत्री महोदय ने जोर देकर कहा कि प्राधिकृत अधिकारियों को उन्हें सौंपे गए अधिकारों का उचित सावधानी और सजगता से उपयोग करना चाहिए । किसी भी केबल आपरेटर को यह नहीं लगना चाहिए कि बिना किसी न्यायोचित कारण के मनमाने ढंग से उसे लक्ष्य बनाया जा रहा है । इन अधिकारों का सोच-समझकर इस्तेमाल इसलिए भी जरूरी है क्योंकि अधिनियम में दो साल तक की सजा का कठोर प्रावधान है और यदि दोबारा इसी तरह का उल्लंघन किया जाता है…

सामाजिक आर्थिक विकास में दूरदर्शन की भूमिका

माजिक आर्थिक विकास में दूरदर्शन की भूमिकासबसे आकर्षक और प्रभावी जनमाध्यम होने के कारण इस तथ्य से इंकार नहीं किया जा सकता है कि लोगों के सामाजिक-आर्थिक विकास में टेलीवीजन एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। दूरदर्शन जो कि अकेला लोक सेवा टेलीवीजन प्रसारक है, 1959 में इसकी शुरुआत से ही देश के आर्थिक - सामाजिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।वर्तमान में जब लगभग 300 टीवी चैनल देश के भीतर और बाहर से कार्यक्रमों की बरसात कर रहे हैं और सभी उपायों के द्वारा अधिक से अधिक दर्शकों को आकर्षित करने की प्रतिस्पध्र्दा में लगे हुए हैं, देश के सामाजिक-आर्थिक विकास को स्वस्थ मीडिया समर्थन प्रदान करने में दूरदर्शन की जिम्मेदारी का महत्व और भी बढ़ गया है।वर्तमान मे दूरदर्शन के 30 चैनल और एक डी टी एच सेवा है। इन चैनलों मेंशामिल हैं पांच राष्ट्रीय चैनल (डी डी - 1, डी डी न्यूज, डी डी स्पोर्ट्स, डी डी भारती, डी डी उर्दू), 11 क्षेत्रीय भाषा सेटेलाइट चैनल (डी डी बांग्ला, डी डी उड़िया, डी डी सप्तगिरि, डी डी पोढ़िगई, डी डी चंदना, डी डी मलयालम, डी डी सहयाद्रि, डी डी गुजराती, डी डी पंजाबी, डी डी क…

राष्ट्रपति ने एशियाई महिला शतरंज चैम्पियनशिप जीतने के लिए तानियां सचदेव को बधाई दी

राष्ट्रपति ने एशियाई महिला शतरंज चैम्पियनशिप जीतने के लिए तानियां सचदेव को बधाई दीराष्ट्रपति, श्रीमती प्रतिभा देवीसिंह पाटिल ने एशियाई महिला शतरंज चैम्पियनशिप जीतने पर तानियां सचदेव को बधाई दी है।यह प्रतियोगिता तेहरान (ईरान) में आयोजित की गई थी। राष्ट्रपति ने अपने बधाई संदेश में कहा है कि खेलकूद को अपना कैरियर बनाने वाले नवोदित शतरंज खिलाड़ियों को इस जीत से प्रेरणा मिलेगी।

राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों की पदस्थापना

राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों की पदस्थापनाराज्य शासन द्वारा राज्य प्रशासनिक सेवा के 12 अधिकारियों को स्थानांतरित करते हुए उनकी पदस्थापना के आदेश जारी किये गये हैं। आज जारी किये आदेश में एक अधिकारी की पूर्व में की गई पदस्थापना के आदेश को निरस्त किया गया है।सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी किये गये आदेश में श्री आदित्य सिंह तोमर, डिप्टी कलेक्टर शिवपुरी को ग्वालियर, श्री राजीव श्रीवास्तव, डिप्टी कलेक्टर रायसेन को बालाघाट, श्री सुनील कुमार शर्मा, डिप्टी कलेक्टर दतिया को शिवपुरी, श्रीमती आशा कुसरे, डिप्टी कलेक्टर मण्डला को छिन्दवाड़ा और श्री बी.बी.एस. तोमर, डिप्टी कलेक्टर ग्वालियर को इंदौर पदस्थ किया गया है।इसी आदेश में श्री उमर फारूख खट्टानी, सचिव अल्पसंख्यक आयोग को उपायुक्त भू-अभिलेख, भोपाल, श्री सी.एल. कुशवाह, संयुक्त कलेक्टर अशोकनगर को सतना, श्री उमाशंकर भार्गव, संयुक्त कलेक्टर इंदौर को सचिव कृषि उपज मण्डी इंदौर और श्री निलय सतमैया, सचिव कृषि उपज मण्डी इंदौर को संयुक्त कलेक्टर रतलाम पदस्थ किया गया है। श्री नित्यानंद बेहरा, संयुक्त कलेक्टर जबलपुर को सतना, श्री जे.एस. सलू…

मध्यप्रदेश को राजीव गाँधी वन्य प्राणी संरक्षण पुरस्कार मिला

मध्यप्रदेश को राजीव गाँधी वन्य प्राणी संरक्षण पुरस्कार मिलाकेन्द्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्रालय द्वारा व्यक्तिगत वर्ग के पुरस्कार की घोषणाकेन्द्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्रालय ने मध्यप्रदेश को व्यक्तिगत वर्ग के अंतर्गत वर्ष 2005 के लिये ''राजीव गाँधी वन्य प्राणी संरक्षण पुरस्कार'' देने की घोषणा की है। यह जानकारी वन मंत्री कुँवर विजय शाह ने आज यहां दी। उन्होंने बताया कि पर्यावरण एवं वन मंत्रालय भारत शासन द्वारा प्रतिवर्ष वन्य प्राणी संरक्षण क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिये एक शासकीय#अशासकीय व्यक्ति को 'राजीव गाँधी वन्य प्राणी संरक्षण पुरस्कार' से सम्मानित किया जाता है। यह पुरस्कार व्यक्तिगत एवं संस्थागत दो वर्गों में दिया जाता है।वन मंत्री ने बताया कि भारत सरकार द्वारा वर्ष 2005 के व्यक्तिगत वर्ग के पुरस्कार के लिये मध्यप्रदेश के वन अधिकारी डॉ. एच.एस. नेगी, क्षेत्रीय संचालक, कान्हा टाईगर रिजर्व के नाम की घोषणा की गई है।डॉ. एच.एस. नेगी भारतीय वन सेवा के 1988 बैच के अधिकारी हैं। श्री नेगी को यह पुरस्कार उनके द्वारा कान्हा बाघ आरक्ष के अंतर्गत उप स…

भोपाल में सुशासन एवं नीति विश्लेषण स्कूल की स्थापना

भोपाल में सुशासन एवं नीति विश्लेषण स्कूल की स्थापनास्कूल सुशासन के क्षेत्र में थिंक टैंक के रूप में कार्य करेगा, राज्य शासन द्वारा स्कूल के उद्देश्य निर्धारितराज्य शासन द्वारा भोपाल में सुशासन एवं नीति विश्लेषण स्कूल की स्थापना की गयी है। स्कूल पंजीकृत स्वशासी संस्था के रूप में होगा। इसका संचालन एक गवर्निंग बॉडी करेगी जिसके अध्यक्ष मुख्यमंत्री होंगे। स्कूल के दैनिक कार्यों के संपादन के लिये एक एक्जीक्यूटिव बॉडी गठित की जायेगी।राज्य मंत्रिपरिषद ने इसी वर्ष 13 जून को उक्त स्कूल की स्थापना का निर्णय लिया था। मंत्रिपरिषद ने स्कूल की स्थापना के लिये वर्ष 2007-08 की आयोजना सीमा पांच करोड़ रुपये निर्धारित की है। गौरतलब है कि इसी वर्ष जनवरी माह में हुई प्रदेश के सभी जिला कलेक्टर और संभागायुक्त तथा चुनिन्दा विभागाध्यक्षों, सचिवों और प्रमुख सचिवों की राज्य स्तरीय कार्यशाला मंथन-2007 में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में उक्त स्कूल स्थापित करने की घोषणा की थी।राज्य शासन द्वारा हाल ही में इस स्कूल के महानिदेशक के पद पर श्री एच.पी. दीक्षित को नियुक्त किया गया है।राज्य शासन …

ग्वालियर में क्षेत्रीय उत्सव का आयोजन

ग्वालियर में क्षेत्रीय उत्सव का आयोजनराज्य शासन द्वारा समिति का गठनकेन्द्र सरकार के वस्त्र मंत्रालय और पर्यटन मंत्रालय द्वारा प्रदेश सरकार के सहयोग से ग्वालियर में क्षेत्रीय उत्सव (जोनल फेस्टीवल) का आयोजन किया जा रहा है।राज्य शासन द्वारा इस आयोजन के लिये केन्द्रीय पर्यटन सचिव की अध्यक्षता में एक समिति गठित की गयी है। प्रदेश के पर्यटन सचिव इस समिति के उपाध्यक्ष होंगे। पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष इस समिति के सदस्य बनाये गये हैं। विकास आयुक्त हेण्डलूम्स, अतिरिक्त महानिदेशक पर्यटन के अलावा प्रमुख सचिव ग्रामोद्योग, आयुक्त हेण्डलूम्स, हस्तशिल्प विकास निगम एवं पर्यटन विकास निगम के प्रबंध संचालक, संचालक संस्कृति, निदेशक आदिवासी लोक कला अकादमी समिति में सदस्य होंगे। पर्यटन विकास निगम के महाप्रबंधक (मुख्यालय) समिति के सदस्य#सचिव होंगे।

राजभवन में एटीएम काउंटर की सुविधा प्रारंभ

राजभवन में एटीएम काउंटर की सुविधा प्रारंभराज्यपाल के सचिव श्री के.के. सिह ने आज राजभवन स्थित स्टेट बैंक आफ इंदौर के एटीएम काऊंटर का उद्धाटन करते हुए कहा कि व्यस्त्ता और भीड़भाड़ की जिंदगी से कर्मचारियों को बचाने के लिए आज आवश्यक है कि तकनीकी सुविधा से सुसज्जित पध्दति का अधिक से अधिक उपयोग किया जाए। श्री सिंह ने बैंक अधिकारियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि एटीएम काउंटर खोलने का उद्देश्य कर्मचारियों और उनके परिवार वालों को समय पर पैसा उपलब्ध कराना तथा शासकीय कार्य में तेजी लाना है।इस अवसर पर स्टेट बैंक इंदौर के ए.जी.एम श्री प्रेमनारायण गोयल, चीफ मेनेजर श्री आर.सी. पिंगले, राज्यपाल के अपरसचिव श्री ओमेश मूंदड़ा, उपसचिव श्री एस.एन. रूपला तथा बड़ी संख्या में अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे।

बालश्री अवार्ड के चयन शिविर के लिए प्रदेश के 8 बच्चे चुने गये

बालश्री अवार्ड के चयन शिविर के लिए प्रदेश के 8 बच्चे चुने गयेराष्ट्रीय बालश्री अवार्ड 2007 के चयन शिविर के लिए प्रदेश के 8 बालक-बालिकाओं का चयन किया गया है। मध्यक्षेत्रीय शिविर 20 सितम्बर से 23 सितम्बर तक कानपुर में आयोजित होगा। इस शिविर के लिये चयनित जवाहर बाल भवन, भोपाल के बच्चे 19 सितम्बर को कानपुर के लिए प्रस्थान करेंगे। मध्य क्षेत्रीय शिविर में चयनित होने वाले बच्चे नई दिल्ली के राष्ट्रीय बालश्री चयन शिविर में सम्मिलित होंगे।जवाहर भवन भोपाल के कु. इंदिरा तिवारी सृजनात्मक कला, शुभम वर्मा सृजनात्मक कला, कु. दिशी जैन सृजनात्मक लेखन, कु. अपूर्वा प्रधान सृजनात्मक लेखन, कु. प्रेरणा केसरी सृजनात्मक वैज्ञानिक नवीनीकरण, सुनील मोदी, मो. अलान और मिलिन्द दाभाड़े, ये आठों बच्चे इस प्रदर्शनकारी शिविर के लिए कानपुर जायेंगे।

हलकनामें को मार डालो, हम सब को इसने मारा

व्‍यंग्‍य आलेख-सेतु उत्‍तर काण्‍ड बनाम बक बक न करिये जनाब नरेन्‍द्र सिंह तोमर 'आनन्‍द'(यह आलेख सेतु विवादम का भाग 2 नहीं है )मैंने जब सेतु विवादम बनाम जाकी रही भावना जैसी वाला आलेख लिखा था इतनी जल्‍दी उस पर एक्‍शन हो कर समस्‍या के पटाक्षेप की मुझे कतई उम्‍मीद नहीं थी और उसके लिये पूरी तैयारी के साथ लगभग 7 किश्‍ते इस आलेख की मेरे मनोमस्तिष्‍क में तैयार थीं किन्‍तु कांग्रेस नेता आदरणीया सोनिया जी और उनके सहयोगीयों ने बात या आलेख के आगे बढ़ने से पहले ही आलेख की विषयवस्‍तु का पटाक्षेप कर दिया, सो आगे की किश्‍त लेखन की आवश्‍यकता ही नहीं रही । किन्‍तु कुछ क्षेत्रीय नेताओं ने इस विषयवस्‍तु के पटाक्षेप उपरान्‍त जो चिल्‍लपों इस देश में मचा रखी है, कुछ बाते उन पर भी करना प्रासंगिक होगा । यूं तो हर नेता का अपना सुर होता है और अपनी अपनी ढपली अपना अपना राग हुआ करता है । लेकिन नेता जब तक सुर में बोले तो चलो ठीक है लेकिन जब बेसुरा और भौंड़ा होकर नर्राने लगता है तो बर्दाश्‍त की सीमायें लांघ जाता है । वे तर्क और विश्‍लेषण की दुहाईयों तक उतर कर राम के कालेज और विश्‍वविद्यालय का नाम प…