पोस्ट

फ़रवरी 24, 2008 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

अफरा तफरी और तमाम अव्‍यवस्‍थाओं के बीच म.प्र. बोर्ड परीक्षायें शुरू, बैठने को टाट पटटी और पीने को पानी तक मयस्‍सर नहीं बच्‍चों को

अफरा तफरी और तमाम अव्‍यवस्‍थाओं के बीच म.प्र. बोर्ड परीक्षायें शुरू
बैठने को टाट पटटी और पीने को पानी तक मयस्‍सर नहीं बच्‍चों को
अतर सिंह डण्‍डोतिया – तहसील संवाददाता

मुरैना 1 मार्च 08, आज से म.प्र. बोर्ड की परीक्षायें मुरैना में प्रारंभ हुयीं । आज हुयी हायरसेकण्‍ड्री परीक्षाओं में जहॉं अफरातफरी और बेतरतीबी का आलम छाया रहा वहीं छात्र छात्राओं को बैठने, पीने के पानी तक की व्‍यवस्‍था नहीं थी । मुरैना जिला में कुल 26 हजार 64 परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं जिसमें 15 हजार 570 परीक्षार्थी हायरसेकण्‍ड्री के हैं और 31 हजार 494 परीक्षार्थी हाईस्‍कूल के हैं । आज शिक्षा विभाग के दावों की असलियत हायरसेकण्‍ड्री परीक्षा के पहले दिन ही खुल कर सामने आ गयी । महज 15 हजार 570 परीक्षार्थीयों की व्‍यवस्‍था का आलम यह था कि न तो उनके बैठने के लिये टाट पटटी तक नसीब हुयी और न उस स्‍थान पर झाड़ू तक लगाया गया । धूल व कचरे से सने फर्श व कच्‍ची जमीन पर बैठकर मजूबरन बच्‍चों को इम्तिहान देने पड़े । वहीं कुछेक छात्र खिड़कीयों व गोखों पर लटक कर इम्तिहान देते रहे वहीं कई जगह एक दूसरे के सिर पर सवार होकर । कई जगह पानी के…

राज्य प्रशासनिक सेवा के नौ अधिकारियों के स्थानान्तरण एवं पदस्थापनाएं

संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो चीफ
मुरैना, 29 फरवरी, 08/राज्य शासन द्वारा राज्य प्रशासनिक सेवा के 9 अधिकारियों को स्थानांतरित करते हुए उनकी पदस्थापना के आदेश जारी किये गये हैं।
आज जारी इस आदेश में भू-अर्जन एवं पुनर्वास अधिकारी सरदार सरोवर परियोजना, बड़वानी श्री साधूलाल प्रजापति को डिप्टी कलेक्टर, इंदौर, डिप्टी कलेक्टर बुरहानपुर श्री गजेन्द्र सिंह डाबर को डिप्टी कलेक्टर, उज्जैन, डिप्टी कलेक्टर, अनूपपुर श्री राजीव दीक्षित को डिप्टी कलेक्टर सतना, संयुक्त कलेक्टर रतलाम श्री तापस कुमार बनर्जी का संयुक्त कलेक्टर होशंगाबाद के पद पर किए गए स्थानांतर में आंशिक संशोधन करते हुए उन्हें संयुक्त कलेक्टर, बुरहानपुर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी ग्वालियर विकास प्राधिकरण ग्वालियर श्री किशोर कुमार कन्याल को संयुक्त कलेक्टर, भोपाल, डिप्टी कलेक्टर मुरैना श्री अमरेश श्रीवास्तव को डिप्टी कलेक्टर, भिण्ड, डिप्टी कलेक्टर, डिण्डोरी श्री अनिल कुमार व्यास को डिप्टी कलेक्टर मुरैना, संयुक्त कलेक्टर पन्ना श्री संजय कुमार जैन को संयुक्त कलेक्टर, जबलपुर, क्षेत्रीय प्रबंधक, स्टेट सिविल सप्लाईज कार्पोरेशन ग्वालियर श्री क…

संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो चीफ मुरैना, 29 फरवरी, 08/प्रदेश सरकार के किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग और बी.ए.एस.एफ. कंपनी के बीच हरदा जिले म

संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो चीफ
मुरैना, 29 फरवरी, 08/प्रदेश सरकार के किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग और बी.ए.एस.एफ. कंपनी के बीच हरदा जिले में बीजों के उपचार एवं संबधित गतिविधियों के लिए एक करारनामे पर हस्ताक्षर किये गये हैं। इस अवसर परकिसान कल्याण तथा कृषि विकास, सहकारिता मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा है कि प्रदेश में कृषि के क्षेत्र में नई तकनीक विकसित कर प्रति हेक्टेयर उत्पादन में बढ़ोतरी के प्रयास किये जा रहे हैं। इस नई तकनीक को किसानों तक पहुँचाने की जिम्मेदारी कृषि विभाग के मैदानी कार्यकर्ताओं की है।
श्री भार्गव ने कहा कि प्रदेश में शत प्रतिशत खरीफ फसलों के बीजों को उपचारित करने का लक्ष्य रखा गया है। बी.ए.एस.एफ कंपनी हरदा जिले में अपनी गतिविधियां विभाग की भागीदारी से संपादित करेगी। कंपनी दो बीजोपचार मशीने उपलब्ध करायेगी। जिससे कृषकों के बीजो का बीजोपचार होगा। इसके लिए प्रदेश में गांव बार कार्यक्रम तैयार किया जायेगा। कृषकों को बीजोपचार के महत्व पर प्रशिक्षित किया जावेगा। प्रशिक्षण में बीजों की अंकुरण क्षमता और परीक्षण प्रणाली के संबंध में समझाया जायेगा। कंपनी विभाग के स…

हरदा जिले में बीजोपचार के लिए बी.ए.एस.एफ कंपनी से करार हुआ

संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो चीफ
मुरैना, 29 फरवरी, 08/प्रदेश सरकार के किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग और बी.ए.एस.एफ. कंपनी के बीच हरदा जिले में बीजों के उपचार एवं संबधित गतिविधियों के लिए एक करारनामे पर हस्ताक्षर किये गये हैं। इस अवसर परकिसान कल्याण तथा कृषि विकास, सहकारिता मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा है कि प्रदेश में कृषि के क्षेत्र में नई तकनीक विकसित कर प्रति हेक्टेयर उत्पादन में बढ़ोतरी के प्रयास किये जा रहे हैं। इस नई तकनीक को किसानों तक पहुँचाने की जिम्मेदारी कृषि विभाग के मैदानी कार्यकर्ताओं की है।
श्री भार्गव ने कहा कि प्रदेश में शत प्रतिशत खरीफ फसलों के बीजों को उपचारित करने का लक्ष्य रखा गया है। बी.ए.एस.एफ कंपनी हरदा जिले में अपनी गतिविधियां विभाग की भागीदारी से संपादित करेगी। कंपनी दो बीजोपचार मशीने उपलब्ध करायेगी। जिससे कृषकों के बीजो का बीजोपचार होगा। इसके लिए प्रदेश में गांव बार कार्यक्रम तैयार किया जायेगा। कृषकों को बीजोपचार के महत्व पर प्रशिक्षित किया जावेगा। प्रशिक्षण में बीजों की अंकुरण क्षमता और परीक्षण प्रणाली के संबंध में समझाया जायेगा। कंपनी विभाग के स…

मध्यप्रदेश चार राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कारों से सम्मानित

संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो चीफ
मुरैना, 29 फरवरी, 08/भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा पर्यटन के क्षेत्र में विशेष उपलब्धियों के लिए मध्यप्रदेश को चार राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार प्रदान किये गये हैं। ये पुरस्कार प्रतिवर्ष दिये जाते हैं। वर्ष 2006-07 में विभिन्न श्रेणियों में उपलब्धियों के लिए पहली बार मध्यप्रदेश को चार- बेस्ट परफार्मिंग स्टेट, मोस्ट एनोवेटिव प्रोडक्ट, बेस्ट मेन्टेन्ड टूरिस्ट फ्रेण्डली नेशनल पार्क तथा बेस्ट मेन्टेण्ड टूरिस्ट फ्रेण्डली मान्यूमेंट के पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है।
विदेशी मंत्री, श्री प्रणब मुखर्जी द्वारा पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्रीमती अंबिका सोनी की अध्यक्षता में बुधवार को विज्ञान भवन नई दिल्ली में आयोजित एक समारोह में ये पुरस्कार वितरित किये गये। मध्यप्रदेश सरकार की ओर से यह पुरस्कार सचिव पर्यटन श्री इकबाल सिंह बैस और मध्यप्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम के प्रबंध संचालक श्री अश्विनी लोहानी द्वारा ग्रहण किये गये।
उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश को आकर्षक पर्यटन अधोसंरचना विकसित किये जाने, पर्यटक सुविधाओं में वृध्दि, केन्द्रीय योजनाओं के त्वरित …

उज्जैन के टेम्पो वाले प्रभारी मंत्री श्री गौर से मिले

संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो चीफ
मुरैना, 29 फरवरी, 08/टेम्पो यूनियन संघर्ष समिति उज्जैन के एक प्रतिनिधि मण्डल ने आज उज्जैन जिले के प्रभारी वाणिज्यिक कर मंत्री श्री बाबूलाल गौर से उनके निवास पर मुलाकात कर उज्जैन शहर से बीस साल पुराने टेम्पो के स्थान पर भोपाल के समान टाटा मैजिक वाहन चलाने की अनुमति देने का आग्रह किया। टेम्पो यूनियन संघर्ष समिति उज्जैन के अध्यक्ष श्री रफीक कुरैशी ने प्रभारी मंत्री का ध्यान आकर्षित करते हुए बताया कि उज्जैन शहर में जिन टेम्पो को अभी 20 वर्ष पूरे नहीं हुए हैं, उन्हें न हटाया जाय।
प्रभारी मंत्री श्री गौर ने उज्जैन कलेक्टर को यूनियन की मांगों का परीक्षण कर कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। प्रतिनिधि मण्डल में प्रमुख रुप से श्रीमती शोभा यादव, सामाजिक कार्यकर्ता, श्री रोशन यादव, श्री अमरीश लाला, मो. सईद नागौरी आदि उपस्थित थे।

विद्युत ट्रांसफार्मरों का सुधार जारी

संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो चीफ
मुरैना, 29 फरवरी, 08/प्रदेश में बिजली आपूर्ति सिस्टम में सुधार के लिए चलाई गई मुहिम के तहत ट्रांसफार्मरों के रख-रखाव को दुरुस्त करने की कार्रवाई जारी है। इसी सिलसिले में मैदानी क्षेत्र में व्यावहारिक प्रशिक्षण के दौर चल रहे हैं। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने अपने अधीन कोई 65 हजार वितरण ट्रांसफार्मरों के पुख्ता रख-रखाव के लिए यह मुहिम छेड़ी है।
पिछले दिनों भोपाल और सीहोर में ट्रांसफार्मरों के संचालन से जुड़े विद्युत कर्मियों को प्रशिक्षित किया गया। तकनीकी विशेषज्ञ और कंपनी के वरिष्ठ अफसर न्यूनतम समय में अधिकाधिक ट्रांसफार्मरों के बेहतर रख-रखाव की तकनीक से अवगत करा रहे हैं। ट्रांसफार्मरों को दुरुस्त रख कर बिजली की हानियों को कम करने के साथ ही उपभोक्ताओं को निर्बाध विद्युत आपूर्ति भी सुनिश्चित हो सकेगी। संबंधित कर्मचारियों के समक्ष सभी तकनीकी पहलुओं का खुलासा भी किया जा रहा है। इसी तरह विभिन्न उपकरणों के सुव्यवस्थित उपयोग के तरीके और इस दौरान की जाने वाली सावधानियों की जानकारी का व्यावहारिक प्रशिक्षण दिया जा रहा है। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कं…

दर्शाण काल की कला और संस्कृति के अवशेष रायसेन जिले से लेकर झांसी तक

संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो चीफ
मुरैना, 29 फरवरी, 08/दर्शाण काल की कला और संस्कृति रायसेन जिले से लेकर झांसी तक प्राप्त होती है। यह काल पुरातत्वीय महत्व के हिसाब से काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। उक्त जानकारी पिछले दिनों विदिशा में आयोजित पुरातत्व वेत्ताओं की एक संगोष्ठी में उजागर हुई है। संगोष्ठी का उद्धाटन कलेक्टर विदिशा श्री योगेन्द्र शर्मा ने किया था।
कलेक्टर श्री शर्मा ने इस मौके पर कहा कि विदिशा जिला पुरा संपदा की दृष्टि से काफी समृध्द रहा है। यहां के स्मारकों के बारे में जनसामान्य की जानकारी के लिए और अधिक शोध किये जाने की आवश्यकता है। उन्होंने इस मौके पर डॉ. नारायण व्यास की कृति 'बैस नगर' विदिशा पुस्तिका का विमोचन किया।
संगोष्ठी में बताया गया कि विदिशा एवं एरकछ (झांसी के निकट) प्राप्त अवशेष इंगित करते हैं कि यह क्षेत्र लोहा उपकरण एवं तलवार, सिक्कों के निर्माण के लिये तत्कालीन अवधि में काफी प्रसिध्द रहा है। विदिशा का उल्लेख रामायण, मेघदूत, मालविकाग्निमित्रम् के अलावा सात वाहन कुषाण, भारशिव, नागवंशी, गुप्तकाल, प्रतिहार, परमार कालीन जानकारी यहां प्राप्त धूसर मृद्भाण्…

925 केन्द्रों पर एक मार्च से समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी

मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा तैयारियों की समीक्षा
संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो चीफ
मुरैना, 29 फरवरी, 08/मध्यप्रदेश में आगामी एक मार्च से 925 केन्द्रों पर समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी की जायेगी। केन्द्र सरकार ने इस वर्ष एक हजार रूपये प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य घोषित किया है तथा इस पर राज्य सरकार सौ रूपये अतिरिक्त बोनस के रूप में किसानों को देगी। राज्य में इस वर्ष न्यूनतम दस लाख टन गेहूं उपाज का लक्ष्य रखा गया है।
यह जानकारी समर्थन मूल्य पर किसानों से खरीदी की व्यवस्थाओं की समीक्षा के लिये मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान की अध्यक्षता में विधानसभा समिति कक्ष में आज आयोजित बैठक में दी गई।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस वर्ष समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी से संबंधित सभी शासकीय एवं सहकारी संस्थाओं पर दोहरी जवाबदारी है। उन्हें किसानों को तत्काल भुगतान तथा गरीबों को तीन रूपये किलो गेहूं उपलब्ध कराने के लिये गेहूं की खरीदी करना है। उन्होंने कहा कि इसके लिये जो भी सुविधाएं एवं व्यवस्थाएं आवश्यक हों वे सुनिश्चित की जायें। मुख्यंत्री श्री चौहान ने कहा कि गेहूं खरीदी किसानों से ही की…

पोषण आहार की प्रदाय व्यवस्था के लिये समिति का गठन

संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो चीफ
मुरैना, 29 फरवरी, 08/राज्य शासन ने समेकित बाल विकास परियोजनाओं में पोषण आहार प्रदाय किये जाने की संपूर्ण प्रक्रिया निर्धारित करने के लिये तीन सदस्यों की एक समिति का गठन किया है। अपर मुख्य सचिव महिला एवं बाल विकास, प्रमुख सचिव वित्त और सचिव उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण इस समिति के सदस्य होंगे।
यह समिति प्रदाय करने वाली इकाइयों से संबंधित सभी बिन्दुओं का परीक्षण कर पोषण आहार की प्रदाय व्यवस्था की एक पूर्ण पारदर्शी प्रक्रिया निर्धारित करेंगे।
उल्लेखनीय है कि बाल विकास परियोजनाओं में छह माह से तीन वर्ष तक की आयु के बच्चों के लिये एम.पी. एग्रो इण्डस्ट्रीज एवं उनकी संयुक्त क्षेत्र की इकाइयों से पोषण आहार प्रदाय किया जाता है।

राज्य सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न

गृह मंत्री श्री कोठारी द्वारा सुरक्षा व्यवस्थाओं की समीक्षा
संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो चीफ
मुरैना, 29 फरवरी, 08/राज्य सुरक्षा समिति की बैठक आज यहां गृह मंत्री श्री हिम्मत कोठारी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। विधानसभा स्थित मंत्री कक्ष में आयोजित इस बैठक में गृहमंत्री ने प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्थाओं की विस्तार जानकारी लेते हुए आम लोगों की सुरक्षा के लिए पुलिस को तत्पर कार्यवाई के निर्देश दिये। इस दौरान अपर मुख्य सचिव गृह श्री विनोद चौधरी, संयुक्त निदेशक, आई.बी. मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ श्री यशोवर्धन आजाद तथा अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक इन्टेलीजेंस श्री सुरेन्द्र सिंह उपस्थित थे।
बैठक में गृह मंत्री ने महत्वपूर्ण व्यक्तियों की सुरक्षा के लिए किये गये बंदोबस्त की जानकारी भी ली। उन्होंने नक्सल प्रभावित क्षेत्रों तथा संवेदनशील स्थलों में किए गए सुरक्षा इंतजामों की समीक्षा करते हुए इस उद्देश्य से आधुनिकतम उपकरणों की व्यवस्था के निर्देश दिये।
इस दौरान सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए शैक्षणिक संस्थाओं और ग्राम पंचायतों के माध्यम से यातायात शिक्षा प्रदान करने पर भी बल दिया गया ताकि लोग वाहन…

ग्रामोद्योग राज्यमंत्री श्री करण सिंह वर्मा द्वारा रेशमी वस्त्र विक्रय सह प्रदर्शनी 'सिल्क फेब-2008'' का शुभारंभ

संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो चीफ मुरैना,
29 फरवरी, 08/ग्रामोद्योग, उद्यानिकी तथा खाद्य प्रसंस्करण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री करण सिंह वर्मा ने आज यहां गौहर महल में रेशमी वस्त्र विक्रय सह प्रदर्शनी 'सिल्क फेब-2008' का शुभारंभ किया। इस अवसर पर सचिव ग्रामोद्योग श्री एम.ए. खान तथा आयुक्त रेशम श्री एम.के. सिंह उपस्थित थे। म.प्र. सिल्क फेडरेशन द्वारा आयोजित यह अनूठी प्रदर्शनी आगामी 6 मार्च, 2008 तक जारी रहेगी।
म.प्र. सिल्क फेडरेशन का गठन वर्ष 1997-98 में किया गया था। फेडरेशन के गठन का मुख्य उद्देश्य प्रदेश में रेशम हितग्राहियों का हित संवर्धन व प्रभावी बाजार व्यवस्था की स्थापना है। सिल्क फेडरेशन शुध्द रेशम से तैयार किये गये वस्त्रों पर प्राकृतिक रंग से प्रिंटिंग कार्य करवाकर प्रदेश के कोया उत्पादकों, धागाकरण हितग्राहियों, बनुकरों, रंगरेजों एवं वस्त्र प्रोसेसिंग से जुड़े हितग्राहियों को सतत् रोजगार उपलब्ध कराकर उनके जीवन स्तर में सुधार लाने की दिशा में कार्य कर रहा है।
गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी म.प्र. सिल्क फेडरेशन द्वारा राजधानीवासियों को शुध्द और उत्तम गुणवत्ता की रेश…

मणिपुरी नृत्यांगना प्रीति पटेल दर्शकों से हुई रुबरु (खजुराहो नृत्य महोत्सव)

संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो चीफ मुरैना, 29 फरवरी, 08/कला अकादमी के प्रतिष्ठा आयोजन ''संवाद कार्यक्रम'' द्वारा नृत्य कला ज्ञान के आदान-प्रदान में आज प्रसिध्द कला समीक्षक श्री प्रयाग शुक्ल के संयोजन में मणिपुरी नृत्य पर केन्द्रित कार्यक्रम आयोजित किया गया। उस्ताद अलाउद्दीन खान संगीत एवं कला अकादमी के तत्वावधान में आयोजित ''संवाद'' कार्यक्रम में मणिपुरी नृत्यांगना प्रीति पटेल के समूह ने अपनी कला का प्रदर्शन किया। 33 वें खजुराहो नृत्य महोत्सव में अपना नृत्य प्रदर्शन करने वाली मणिपुरी नृत्यांगना प्रीति पटेल ''संवाद'' में उपस्थित दर्शकों, आलोचकों, कला गुरूओं से समक्ष रूबरू हुई।
कार्यक्रम के प्रारम्भ में कला अकादमी के निदेशक श्री अरूण पलनीटकर ने म.प्र. शासन द्वारा साहित्य और संस्कृति के क्षेत्र में किये जा रहे कार्यों एवं गतिविधियों पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम के समन्वयक श्री प्रयाग शुक्ल ने मणिपुरी नृत्य का इतिहास, संरक्षण, विकास, नृत्य के प्रकार और उनकी शैली आदि को सविस्तार बताया, खास तौर से रासलीला को दर्शकों के समक्ष समझाया। उन्हौंने र…

सकल घरेलू निवेश तथा बचत में तीव्र बढोत्तरी की प्रवृत्ति

28 फरवरी 08/सकल घरेलू उत्पाद की हाल ही की वृद्वि की विशेषता सकल घरेलू निवेश तथा बचत में तीव्र बढोत्तरी की प्रवृत्ति है। वर्ष 2006-07 तक के पिछले पांच वर्षो में सकल घरेलू निवेश में जीडीपी के 13.1 प्रतिशत के बराबर वृद्वि हुई है तथा बचत में सकल घरेलू उत्पाद के 11.3 प्रतिशत के बराबर वृद्वि हुई है। 10 वीं पंचवर्षीय योजना के लिए औसत निवेश अनुपात 9वीं पंचवर्षीय योजना के औसत निवेश अनुपात से 31.4 प्रतिशत अधिक था और औसत बचत दर भी 9वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान 23.6 प्रतिशत के औसत अनुपात से अधिक था यानि यह सकल घरेलू उत्पाद का 31.4 प्रतिशत थी।
निजी तथा सरकारी दोनों प्रकार की बचतों ने उच्चतर समग्र बचतों में योगदान दिया है। 10वीं पंचवर्षीय योजना में निजी बचतों में सकल घरेलू उत्पाद के 6.1 प्रतिशत के बराबर वृद्वि हुई जबकि निजी क्षेत्रों की बचत में सकल घरेलू उत्पाद के 5.2 फीसदी के बराबर बढोत्तरी हुई है। इस दौरान दोनों में स्थिर वृद्वि हुई है।
निवेश में वृद्वि निजी निवेश के द्वारा संचालित होती है। 10वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान यह बढक़र जीडीपी के 10.3 प्रतिशत के बराबर हो गई है। यह सुधार निजी कॉरपोरेट के …

भारत में पर्यटन की उज्ज्वल संभावना: आर्थिक सर्वेक्षण

28 फरवरी 08/आर्थिक सर्वेक्षण 2007-08 के अनुसार भारत में पर्यटन की अच्छी संभावनाएं हैं । सर्वेक्षण में कहा गया है कि भारत में पर्यटन संरचना का विकास हो रहा है और सरकार न्नअतुल्य भारत न्न अभियान के जरिए चीन, लातीनी अमेरिका और सीआईएस देशों के उभरते बाजारों में भारत को पर्यटन केन्द्र के रूप में स्थापित कर रही है। इसके अलावा व्यापार मेले व प्रदर्शनियों के आयोजन से भी पर्यटन को बढावा मिलेगा।
पिछले कुछ सालों में भारत में पर्यटन क्षेत्र में विकास बेहतर रहा। वर्ष 2006-07 में लगातार चौथे साल विदेशी पर्यटकों का आगमन बढा अौर विदेशी मुद्रा कमाई में वृध्दि हुई।
वर्ष 2006-07 में लगभग 46.33 लाख विदेशी पर्यटक भारत आए। इस तरह पिछले वर्ष की तुलना में इसमें 13# का इजाफा हुआ। एक आकलन के अनुसार वर्ष 2006-07 के दौरान पर्यटन के जरिए 9696 मिलियन अमेरिकी डॉलर की विदेशी मुद्रा का अर्जन हुआ जो पिछले वर्ष की तुलना में 23.5 प्रतिशत ज्यादा है।

अप्रैल-दिसम्बर, 2007 के दौरान 70 प्रतिशत निर्यात लक्ष्य पूरा

शीर्ष 12 व्यापारिक साझेदारों के साथ व्यापार में 11.2 प्रतिशत से अधिक वृध्दि
सेवा क्षेत्र के निर्यात में 32.1 प्रतिशत वृध्दि
28 फरवरी 08/आर्थिक सर्वेक्षण 2007-08 में बताया गया है कि अप्रैल-दिसम्बर, 2007 के दौरान मौजूदा वर्ष के लिए निर्धारित निर्यात लक्ष्य का लगभग 70 प्रतिशत पूरा किया गया और यह 111 अरब अमरीकी डालर के स्तर तक पहुंच गया । पेट्रोलियम उत्पादों, इंजीनियरिंग सामग्रियों और रत्नों तथा आभूषणों के निर्यात का इसमें प्रमुख योगदान है । इंजीनियरिंग उत्पादों के निर्यात में वृध्दि मशीनों और उपकरणों, परिवहन उपकरणों और धातुओं के निर्माताओं के योगदान से संभव हुई है । वर्ष 2006-07 की घोषणा के बाद रत्नों और आभूषणों के क्षेत्र में अप्रैल-दिसम्बर, 2007 के दौरान 20.4 प्रतिशत की निर्यात वृध्दि के साथ इसको पुनर्जीवन प्राप्त हुआ ।
भारत के जिन्स के निर्यातों और आयातों में वर्ष 2006-07 में क्रमश: 22.6 प्रतिशत और 24.5 प्रतिशत (सीमा शुल्क के आधार पर, अमरीकी डालर में) वृध्दि हुई है, जो वर्ष 2002-03 के बाद इनकी वृध्दि दर का सबसे छोटा अंतर है । पेट्रोलियम उत्पादों (59.3 प्रतिशत) और इंजीनियरिंग उत्पादों (…

बुनियादी ढाँचा विकास में सरकार की अग्रणी भूमिका जारी रहेगी

28 फरवरी 08/अर्थव्यवस्था में विकास की दर को बनाए रखने में उपयुक्त बुनियादी ढाँचे के महत्व को समझते हुए और विकास की प्रक्रिया में समग्रता को सुनिश्चित करने के लिए सरकार ग्यारहवी योजना में बुनियादी ढाँचे के विकास में अग्रणी भूमिका निभाती रहेगी । आज संसद में प्रस्तुत आर्थिक सर्वेक्षण 2007-2008 में कहा गया है कि औद्योगिक विकास की दर में हाल में आई मंदी से बुनियादी ढाँचे के कुछ क्षेत्रों के कार्य निष्पादन में भी अप्रैल-दिसम्बर 2007-2008 में पिछले वर्ष की इसी अवधि के मुकाबले कुछ कमी आई है । इनमें बिजली उत्पादन, रेलवे माल ढुलाई और इस्पात, सीमेंट तथा पेट्रोलियम उत्पादन जैसे क्षेत्र शामिल हैं। बिजली क्षेत्र में हालॉकि योजना के अनुसार क्षमता में वृध्दि प्राप्त करना संभव नहीं है लेकिन पिछले वर्षों के मुकाबले चालू वर्ष में निश्चित रूप से क्षमता में अधिक वृध्दि हुई है । प्रमुख बंदरगाहों और मालवाहक विमानों के कार्गो में भी पिछले साल से बढोत्तरी हुई है । दूरसंचार क्षेत्र में लगातार विकास जारी है ।
हाल के वर्षों में अर्थव्यवस्था के तेजी से विकास को देखते हुए बुनियादी ढाँचे की रूकावटों को दूर करने का …

आर्थिक सर्वेक्षण - चुनौतियां, नीतिगत अनुक्रिया और मध्यावधि संभावनाएं

28 फरवरी 08/वित्त मंत्री श्री पी.चिदम्बरम द्वारा आज संसद में प्रस्तुत आर्थिक सर्वेक्षण-2007-08 में कहा गया है कि भारतीय अर्थव्यवस्था एक उच्चतर वृध्दि पथ पर अग्रसर हुई है। नई चुनौती इसे और बढाक़र द्विअंकीय स्तरों पर लाने के बजाय इसे इन्हीं स्तरों पर बनाए रखने की है। अवसंरचना विकास की गति को त्वरित करने के प्रयासों के बावजूद अवसंरचना सेवाओं की मांग में आपूर्ति की तुलना में अधिक तेजी से वृध्दि हुई है जिससे इसके अवरोध अधिक बाध्यकारी बन गए हैं। अत: भौतिक और सामाजिक अवसंरचना तथा विशेष रूप से विद्युत, सड़कों और विमानपत्तनों का वर्धन करने तथा उनका उन्नयन करने की अत्यधिक तत्कालिकता है। सरकारी क्षेत्र हमसे अपेक्षा करता है कि हम देश में सरकार के विभिन्न स्तरों तक संस्थानिक कमजोरियों तथा क्रियान्वयन अवरोधों का निवारण करें। निजी क्षेत्र के लिए ऐसी नीति तथा विनियमों की आवश्यकता है जो व्यापक किन्तु सरल तथा स्पष्ट विश्वसनीय हो।
आर्थिक सर्वेक्षण में कई चुनौतियों, नीतिगत अनुक्रिया और मध्यावधि संभावनाओं का पता लगाया गया है। इन्हें निम्न रूप में संक्षिप्त रूप में बताया गया है।
यदि सकल घरेलू उत्पाद की विका…

भारतीय पूंजी बाजार ने 2007 में नयी ऊंचाई छूई

गत वर्ष की तुलना में 2007 में पूंजी बाजार लगभग दोगुना बढा
28 फरवरी 08/भारतीय पूंजी बाजार ने 2007 के दौरान और अधिक व्यापकता और विस्तार हासिल किया । 2007-08 के आर्थिक सर्वेक्षण के अनुसार बम्बई स्टाक एक्सचेंज का सूचकांक 2007 की समाप्ति पर 20000 अंक तक पहुंच गया । बम्बई स्टाक एक्सचेंज (बीएससी) के सूचकांक में 2003 के उत्तरार्ध से ही उछाल आ रहा था । नेशनल स्टाक एक्सचेंज का सूचकांक 2007 के अंत में 6100 से ऊपर पहुंच गया । दोनों सूचकांक 2003 और 07 के बीच तीन गुणे से भी अधिक बढ गए । भारतीय पूंजी बाजार में व्यवसाय की वृध्दि के साथ-साथ पिछले कुछ वर्षों में विनियामक और निरीक्षण मानदण्डों में सुधार हुआ है जिससे बाजार की मजबूती और स्थायित्व सुनिश्चित हुआ है ।
आर्थिक सर्वेक्षण के अनुसार द्वितीयक बाजार के खण्ड में बाजार कार्यकलाप का 2007-08 के दौरान और विस्तार हुआ । जनवरी, 2008 में बम्बई स्टाक एक्सचेंज और नेशनल स्टाक एक्सचेंज क्रमश: 21000 और 6300 की नई ऊंचाई पर पहुंचे । कैलेण्डर वर्ष 2007 के दौरान नेशनल स्टाक एक्सचेंज के सूचकांकों में निपऊटी और निपऊटी जूनियर दोनों ने क्रमश: 54.8 प्रतिशत और 75.7 प्रति…

बीमा क्षेत्र में 37 कंपनियों के प्रवेश से इस क्षेत्र में तीव्र गति

नई पेंशन व्यवस्था मई के अंत तक कार्यान्वित होने की संभावना
आर्थिक समीक्षा 2007-2008
28 फरवरी 08/आर्थिक सर्वेक्षण 2007-08 के अनुसार बीमा क्षेत्र में काम कर रही कंपनियों की संख्या 37 हो गयी है जबकि वर्ष 2000 में इनकी संख्या केवल 6 थी । ये कंपनियां जीवन बीमा, गैर जीवन बीमा और पुर्नबीमा क्षेत्र में कार्य करती हैं । इनमें विशेषत: बीमा करने वाली कंपनियां इस प्रकार से हैं- एक्सपोर्ट क्रेडिट गारंटी कारपोरेशन, कृषि बीमा कंपनी और अन्य दो स्वास्थ्य बीमा कंपनियां हैं । 17 जीवन बीमा कंपनियों में से 15 कंपनियां विदेशी भागीदारों के साथ मिलकर संयुक्त उद्यम चला रही हैं ।
जीवन बीमा उद्योग में कुल अंकित प्रीमियम 34,898 करोड़ रूपए से बढक़र वर्ष 2006-07 में 156,041 करोड़ रूपए हो गया है । रिपोर्ट में कहा गया है कि इस अवधि के दौरान जोखिम अंकित प्रथम वर्ष प्रीमियम पिछले वर्ष की इसी अवधि के 44073 करोड़ रूपए की तुलना में 44696 करोड़ रूपए था ।
चालू वित्त वर्ष में गैर जीवन बीमाकर्ताओं ने अप्रैल से नवम्बर, 2007 के दौरान 18509 करोड़ रूपए का प्रीमियम जोखिम अंकित किया था जबकि पिछले वर्ष इसी अवधि में यह 16560 करोड़ रूपए था ।…

मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा योजनांतर्गत नौ लाख त्रिरेसठ हजार नौ सौ भूमिहीन श्रमिक पंजीकृत

मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा योजनांतर्गत नौ लाख त्रिरेसठ हजार नौ सौ भूमिहीन श्रमिक पंजीकृत
संजय गुप्‍ता (मांडिल),मुरैना ब्‍यूरो
मुरैना 27फरवरी,08/किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा भूमिहीन खेतिहार मजदूरों की सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ''मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा योजना 2007'' को प्रदेश के सभी जिलों में लागू किया है। इसमें ऐसे सम2स्त खेतीहर मजदूर जिनके परिवार के किसी भी सदस्य के नाम खेती की भूमि न हो तथा जो जीविकोपार्जन के लिए कृषि, उद्यानिकी वनरोपण तथा वनोपज संग्रह आदि में नियोजित होकर सामान्यत: मध्यप्रदेश के निवासी हो। अभी तक इस योजनांतर्गत 9 लाख 63 हजार 845 भूमिहीन श्रमिकों को पंजीकृत किया गया है।
इस योजनांतर्गत पंजीयन के लिये ग्राम पंचायतों को पंजीकरण के अधिकार दिए गए है। भूमिहीन श्रमिकों के लिए निर्धारित प्रारूप में आवेदन प्रस्तुत करने पर दस रूपये का शुल्क लेकर तीन वर्ष के लिए पंजीकृत किया जावेगा। पंजीयन के बाद ग्राम पंचायते मजदूर को फोटो परिचय पत्र जारी करेगी यदि पंजीयन के समय फोटो उपलब्ध कराना संभव नही हो तो भी पंजीयन किया जा सकेगा किन्तु इस योजनांतर्…

लाल गेहूँ से मिलेगा छुटकारा, सफेद गेहूँ उपलब्ध करायेगी सरकार

लाल गेहूँ से मिलेगा छुटकारा, सफेद गेहूँ उपलब्ध करायेगी सरकार
पिछले साल की तुलना में दोगुना गेहूँ की खरीदी होगी - श्री अखण्ड प्रताप सिंह, खाद्य मंत्री ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए की अधिकारियों से चर्चा
संजय गुप्‍ता (मांडिल),मुरैना ब्‍यूरो
मुरैना 27फरवरी,08/मध्यप्रदेश सरकार केन्द्र से लाल गेहूँ लेने के स्थान पर कृषि उपज मंडियों व अन्य संस्थाओं से सीधे सफेद गेहूँ खरीदकर आमजनता विशेषकर गरीबी की रेखा के नीचे के हितग्राहियों को उपलब्ध करायेगी। यह जानकारी खाद्य, नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री अखण्ड प्रताप सिंह आज यहां जिलों के खाद्य अधिकारियों और नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबन्धकों व अन्य अधिकारियों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के दौरान हुई चर्चा में दी। इस अवसर पर प्रमुख सचिव श्री एम.के. राय और राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंध संचालक श्री आशीष श्रीवास्तव भी उपस्थित थे।
श्री अखण्ड प्रताप सिंह ने कहा कि खाद्यान्न की व्यापक खरीदी के लिये राज्य सरकार आगामी एक मार्च से तीन माह के लिये अभियान चलायेगी। अभियान की शुरूआत कृषि उपज मण्डियों से होगी। अभियान में पिछले साल से दोगुना दस लाख क्विंटल गेहूँ किसानो…

''मध्यप्रदेश का बजट विकासोन्मुखी और संतुलित

''मध्यप्रदेश का बजट विकासोन्मुखी और संतुलित
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताईं प्रदेश के बजट की विशेषताएं
संजय गुप्‍ता (मांडिल),मुरैना ब्‍यूरो
मुरैना 27फरवरी,08/मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने प्रदेश के वर्ष 2008-09 के बजट को राज्य की जनता की खुशहाली बढ़ाने वाला बजट बताया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज विधानसभा में प्रस्तुत हुए प्रदेश के बजट के संबंध में कहा कि प्रदेश को तीव्र विकास की ओर ले जाने के लिए ऐसे ही बजट की आवश्यकता थी। इस बजट में विभिन्न वर्गों के कल्याण के लिए भरपूर प्रावधान किए गए हैं। श्री चौहान ने कहा कि यह बजट संतुलित, विकासोन्मुखी और आम आदमी का बजट है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बजट में कृषकों के लिए लाभकारी प्रावधान हैं। हाल ही में सम्पन्न किसान महापंचायत में की गई घोषणा के अनुरूप किसानों को सात प्रतिशत के स्थान पर पांच प्रतिशत ब्याज पर सहकारी ऋण उपलब्ध होंगे। किसानों अन्य योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए धनराशि का प्रावधान किया गया है। किसानों को सस्ती बिजली उपलब्ध कराने के लिए प्रावधान किया गया है। बिजली की दरें कम करने के प्रयास के साथ ही गांव के एवं कि…

गुरूद्वारे के लिए भूमि आवंटन पर मुख्यमंत्री श्री चौहान का आभार व्यक्त

गुरूद्वारे के लिए भूमि आवंटन पर मुख्यमंत्री श्री चौहान का आभार व्यक्त
संजय गुप्‍ता (मांडिल),मुरैना ब्‍यूरो
मुरैना 27फरवरी,08/मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान से आज विधानसभा स्थित उनके कक्ष में राज्यमंत्री श्री हरेन्द्र जीत सिंह (बब्बू) के नेतृत्व में सिख समाज, ग्वालियर के प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की। प्रतिनिधिमंडल द्वारा गुरूद्वारा फूलबाग, ग्वालियर के लिए भूमि आवंटन करने पर मुख्यमंत्री श्री चौहान का आभार व्यक्त किया गया। इस अवसर पर जलसंसाधन एवं उच्च शिक्षा मंत्री श्री अनूप मिश्रा उपस्थित थे। गुरूद्वारे के लिए भूमि आवंटन की यह कार्यवाही गत कई वर्ष से लंबित थी। प्रतिनिधि मंडल में डॉ.जे.एस. छाबड़ा, श्री कमलजीत सिंह, श्री हरबंस सिंह, श्री सकता सिंह, श्री गुलजार सिंह आदि शामिल थे।

हैण्डलूम एक्सपो आज से, कल ग्रामोद्योग मंत्री शुभारंभ करेगे

हैण्डलूम एक्सपो आज से, कल ग्रामोद्योग मंत्री शुभारंभ करेगे
संजय गुप्‍ता (मांडिल),मुरैना ब्‍यूरो
मुरैना 27फरवरी,08/हैण्डलूम एक्सपो में देश भर के 14 राज्यों की बुनकर संस्थायें आ रही हैं। यह आयोजन भोपाल हाट बाजार में 28 फरवरी से 19 मार्च तक किया जा रहा है। हैण्डलूम एक्सपो का शुभारंभ 29 फरवरी को ग्रामोद्योग मंत्री श्री करण सिंह वर्मा करेंगे।
विकास आयुक्त (हाथकरघा) वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार के सहयोग से भोपाल हाट में राष्ट्रीय हाथकरघा मेला 28 फरवरी से आयोजित किया जा रहा है। जिसमें देश भर से लगभग 14 राज्यों के बुनकर संस्थाएें भाग ले रही हैं। वस्त्र मंत्रालय प्रति वर्ष देश भर के अलग-अलग राज्यों में इस प्रकार के एक्सपो के लिये लक्ष्य निर्धारित करता है, गत वर्ष भी भोपाल में ही एक्सपो का आयोजन किया गया था एवं इसमें अच्छे परिणामों की प्राप्ति के बाद वर्ष 2007-08 के वित्तीय वर्ष में भी भोपाल शहर में यह एक्सपो का लक्ष्य दिया गया है।
हैण्डलूम एक्सपो प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से रात्रि 9 बजे तक भोपाल हाट में आम ग्राहकों लिये कई विशेषताओं के साथ संचालित होगा, जहां मनोरंजन के साथ-साथ स्वादिष्ट स्वल्पाहर के …

हैण्डलूम एक्सपो आज से, कल ग्रामोद्योग मंत्री शुभारंभ करेगे

हैण्डलूम एक्सपो आज से, कल ग्रामोद्योग मंत्री शुभारंभ करेगे
संजय गुप्‍ता (मांडिल),मुरैना ब्‍यूरो
मुरैना 27फरवरी,08/हैण्डलूम एक्सपो में देश भर के 14 राज्यों की बुनकर संस्थायें आ रही हैं। यह आयोजन भोपाल हाट बाजार में 28 फरवरी से 19 मार्च तक किया जा रहा है। हैण्डलूम एक्सपो का शुभारंभ 29 फरवरी को ग्रामोद्योग मंत्री श्री करण सिंह वर्मा करेंगे।
विकास आयुक्त (हाथकरघा) वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार के सहयोग से भोपाल हाट में राष्ट्रीय हाथकरघा मेला 28 फरवरी से आयोजित किया जा रहा है। जिसमें देश भर से लगभग 14 राज्यों के बुनकर संस्थाएें भाग ले रही हैं। वस्त्र मंत्रालय प्रति वर्ष देश भर के अलग-अलग राज्यों में इस प्रकार के एक्सपो के लिये लक्ष्य निर्धारित करता है, गत वर्ष भी भोपाल में ही एक्सपो का आयोजन किया गया था एवं इसमें अच्छे परिणामों की प्राप्ति के बाद वर्ष 2007-08 के वित्तीय वर्ष में भी भोपाल शहर में यह एक्सपो का लक्ष्य दिया गया है।
हैण्डलूम एक्सपो प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से रात्रि 9 बजे तक भोपाल हाट में आम ग्राहकों लिये कई विशेषताओं के साथ संचालित होगा, जहां मनोरंजन के साथ-साथ स्वादिष्ट स्वल्पाहर के …

अधीनस्थ लेखा सेवा भाग एक की विभागीय परीक्षा 21 अप्रैल से

अधीनस्थ लेखा सेवा भाग एक की विभागीय परीक्षा 21 अप्रैल से
इच्छुक कर्मचारियों से आवेदन आमंत्रित
संजय गुप्‍ता (मांडिल),मुरैना ब्‍यूरो
मुरैना 27फरवरी,08/संचालनालय कोष एवं लेखा मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा अधीनस्थ लेखा सेवा भाग एक की विभागीय परीक्षा 21 से 25 अप्रैल, 2008 तकों भोपाल में आयोजित की जायेगी। यह परीक्षा कोषालयीन एवं अन्य विभागों के कर्मचारियों के लिये आयोजित की जायेगी। परीक्षा में म.प्र. शासन के वर्ग-3 के लेखा प्रशिक्षण परीक्षा उत्तीर्ण शासकीय कर्मचारी सम्मिलित हो सकेंगे। विस्तृत जानकारी तथा आवेदन पत्र संचालनालय, कोष एवं लेखा, भोपाल तथा समस्त संभागीय संयुक्त संचालक, कोष लेखा एवं पेंशन कार्यालय तथा जिला कोषालयों से प्राप्त किये जा सकते हैं।
इच्छुक कर्मचारी आवेदन पत्र भरकर कार्यालय प्रमुख के माध्यम से संबंधित संभागीय संयुक्त संचालक, कोष लेखा एवं पेंशन कार्यालय में जमा किये जावेंगे। संभागीय संयुक्त संचालक कार्यालय भोपाल, इन्दौर, ग्वालियर, जबलपुर, सागर, रीवा एवं उज्जैन में स्थित हैं। आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि 14 मार्च, 2008 रहेगी। समयावधि के पश्चात प्राप्त आवेदन पत्रों पर कोई विचार…

राजस्थान में राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना

राजस्थान में राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना
27 फरवरी 08/राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना (एनआरईजीएस) राजस्थान के छह जिलों में 02 फरवरी, 2006 से शुरू की गयी थी। 01 अप्रैल,2007 से योजना का छह और जिलों में विस्तार किया गया। सरकार ने राज्य के शेष जिलों को एनआरईजीएस के अंतर्गत 01 अप्रैल, 2008 से कवर करने हेतु अधिसूचित किया है।
एनआरईजीएस आवंटन आधारित नहीं है अपितु मांग आधारित है। राज्यों द्वारा निधियों के उपयोग तथा पिछले वर्ष कार्य के लिए मांग के आधार पर अधिनियम के कार्यान्वयन के लिए बजट में प्रावधान किए जाते हैं।
ग्रामीण विकास राज्यमंत्री श्री चंद्रशेखर साहू ने आज राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में राज्यसभा को यह जानकारी दी।

देश में आठ नये बाघ अभयारण्य स्थापित किये जाएंगें

देश में आठ नये बाघ अभयारण्य स्थापित किये जाएंगें
27 फरवरी 08/केंद्रीय पर्यावरण एवं वन राज्यमंत्री श्री एस रेघुपति ने आज लोकसभा में पूछे गये एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया कि केंद्र सरकार ने देश में अपने टाइगर फ्लैगशिप कार्यक्रम परियोजना के तहत आठ नये बाघ अभयारण्य स्थापित करनी की घोषणा की है॥ इसके लिए आठ नये वन क्षेत्रों को अधिग्रहण करने के लिए अपनी मंजूरी प्रदान कर दी है। ग्यारहवीं पंचवर्षीय योजना के दौरान नये बाघ संरक्षण क्षेत्रों के लिए 32 करोड़ रु0 आवंटित करने का अनुमान लगाया है।
आठ नये बाघ अभयारण्य इस प्रकार से है -
टन्नामलय-परांबीकुलम वन्यजीव अभ्यारण्य-तमिलनाडु और केरल।
डदंती और सीता नाड़ी वन्यजीव अभ्यारण्य-छत्तीसगढ़।
कजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान-असम।
अचानकमार वन्यजीव अभ्यारण्य-छत्तीसगढ़।
दंदेली वन्यजीव अभ्यारण्य और अंशी राष्ट्रीय उद्यान-कर्नाटक।
संजय राष्ट्रीय उद्यान और संजय दुबरी वन्यजीव अभ्यारण्य- मध्यप्रदेश।
मुदुमलय वन्यजीव अभ्यारण्य-तमिलनाडु

अत्यंत संकटापन्न घड़ियाल

अत्यंत संकटापन्न घड़ियाल
27 फरवरी 08/पर्यावरण और वन मंत्रालय राज्य मंत्री श्री एस.रघुपति ने आज लोसभा में पूछे गये एक सवाल कि विश्व संरक्षण इकाई द्वारा लाल सूची में गंभीर रूप से संकटापन्न घोषित 100 घड़ियालों की वर्ष 2007 में मृत्यु हो गयी थी। श्री रघुपति ने इसके जबाव में सदन को बताया कि उपलब्ध सूचना के अनुसार 8 दिसम्बर, 2007 और 21 फरवरी, 2008 के बीच की अवधि के दौरान लगभग 105 घड़ियालों के मारे जाने का पता चला है। घड़ियालों की इस प्रकार की मौत के लिए कोई विशेष कारण जिम्मेदारनहीं है। तथापि खाद्य-श्रृंखला के माध्यम से नेफरो-टाक्सिन के शरीर में जाने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता।
घड़ियालों की वर्तमान गणना पर पूछे गये सवाल के जवाब में श्री रघुपति ने बताया कि घड़ियालों की वर्तमान गणना उपलब्ध नहीं है। तथापि,उन्होंने 2007 में विभिन्न अभ्यारण्यों में गणना की गई घड़ियालों की संख्या की सदन को जानकारी दी।

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण
27 फरवरी 08/पर्यावरण और वन मंत्रालय राज्य मंत्री श्री एस.रघुपति ने आज लोसभा में पूछे गये एक सवाल के जवाब में सदन को बताया कि राज्य सरकार से प्राप्त सूचना के अनुसार आन्ध्र प्रदेश के कवल वन्यजीव अभयारण्य में 399 हेक्टेयर क्षेत्र में जुलाई 2007 से अक्टूबर 2007 के दौरान पेड़ों को काटे जाने और अतिक्रमण के प्रयास किए। अवैध शिकारियों द्वारा कुल 13246 पेड़ काटे गये। यद्यपि, इस अवधि के दौरान अवैध शिकार की घटनाओं की सूचना प्राप्त नहीं हुई है।
श्री रघुपति ने सदन को जानकारी दी कि राज्य सरकार ने पेड़ों की कटाई और अतिक्रमण को रोकने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम भी उठाए हैं।

पंचायतों में महिलाओं को आरक्षण

पंचायतों में महिलाओं को आरक्षण
27 फरवरी 08/पंचायती राज मंत्री श्री मणिशंकर अय्यर ने आज एक प्रश्न के लिखित उत्तर में लोकसभा को बताया कि सन 1993, जब संविधान (73 वॉ संशोधन) अधिनियम ,1992 प्रभाव में आया, से संविधान के अनुच्छेद 243 के खंड दो और तीन के अनुसार पंचायती राज व्यवस्था के सभी तीन स्तरों की सीटों और अध्यक्ष पदों के एक तिहाई को महिलाओं के लिए आरक्षित किया गया है।
(2) खंड (1) के अधीन आरक्षित स्थानों की कुल संख्या के कम से कम एक तिहाई स्थान, यथास्थिति, अनुसूचित जातियों या अनुसूचित जनजातियों की महिलाओं के लिए आरक्षित होंगे।
प्रत्येक पंचायत में प्रत्यक्ष निर्वाचन द्वारा भरे जाने वाले स्थानों की कुल संख्या के कम से कम एक तिहाई स्थान ( जिनके अंतर्गत अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों की महिलाओं के लिए आरक्षित स्थानों की संख्या भी है)महिलाओं के लिए आरक्षित रहेंगे और ऐसे स्थान किसी पंचायत में भिन्न-भिन्न निर्वाचन क्षेत्रों को चक्रानुक्रम से आवंटित किए जा सकेंगे।
संविधान के 73 वें संशोधन अधिनियम के प्रभाव में आने के बाद के दो से तीन दौरों के चुनावों में पंचायतों में महिलाओं का वास्तविक प्रत…

चंद्रमा परियोजना के लिए मोबाइल लांचिंग पेडस्टल कार्य पूरा

चंद्रमा परियोजना के लिए मोबाइल लांचिंग पेडस्टल कार्य पूरा
27 फरवरी 08/प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री श्री पृथ्वीराज चव्हाण ने आज लोकसभा में पूछे गये एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो ने चंद्रमा परियोजना के लिए मौजूदा द्वितीय प्रमोचन पैड़ के संवर्धन के भाग के रूप में श्री हरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र में मोबाइल लांचिंग पेड़स्टल कार्य पूरा कर लिया है।
श्री चव्हाण ने बताया कि मैसर्स केसीपी लि0 चेन्नई, को मोबाइल लांचिंग पेड़स्टल तैयार करने का कार्य सौंपा गया था तथा जिसे मार्च 2007 में पूरा कर लिया गया था और इसपर 9 करोड़ 84 लाख रु0 का खर्चा आया था।

इसरो द्वारा आदित्य उपग्रह छोड़े जाने का प्रस्ताव

इसरो द्वारा आदित्य उपग्रह छोड़े जाने का प्रस्ताव
27 फरवरी 08/प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री श्री पृथ्वीराज चव्हान ने आज लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) सूर्य के अध्ययन के लिए आदित्य उपग्रह छोड़े जाने की योजना बना रहा है। आदित्य सूर्य के बाह्यतम क्षेत्र, किरीट के अध्ययन के लिए अभिप्रेत एक उपकरण अपने साथ ले जाएगा। उपग्रह किरीटीय चुंबकीय क्षेत्र की संरचनाओं और किरीटीय चुंबकीय क्षेत्र के विकास जैसे किरीटीय द्रव्यमान अंत:क्षेपण और अंतरिक्ष संबंधी मौसम के महत्वपूर्ण भौतिक प्राचालों का अध्ययन भी करेगा।
यह मिशन सूर्य के विकिरण के बारे में वैज्ञानिक ज्ञान को बढाने और सूर्य के वातावरण पर लगातार नजर रखने में मदद करेगा।

भोपाल, रायसेन, सीहोर जिले के लिए मसाजिद कमेटी गठित

भोपाल, रायसेन, सीहोर जिले के लिए मसाजिद कमेटी गठित
संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना ब्‍यूरो मुरैना 26 फरवरी 08 राज्य शासन ने भोपाल सहित रायसेन और सीहोर जिलों के लिए मसाजिद कमेटी का गठन किया है। बुधवारा, भोपाल निवासी श्री शरीफ अहमद वल्द श्री मंजूर अहमद को इस कमेटी का अध्यक्ष तथा उदयपुरा, रायसेन निवासी श्री जहीर भाई को सचिव नियुक्त किया गया है। (पंचशील नगर) भोपाल के श्री इस्माईल खान और श्री सलीम कुरैशी (जुमेराती) तथा आष्टा जिला सीहोर के श्री मेहमूल अली को कमेटी का सदस्य नियुक्त किया गया है।