समृध्द और अग्रणी भारत बनाने में महिलाएं महत्वपूर्ण योगदान दें

समृध्द और अग्रणी भारत बनाने में महिलाएं महत्वपूर्ण योगदान दें

श्री गौर द्वारा किशोरी शक्ति प्रशिक्षण का शुभारंभ

भोपाल: तीन अगस्त 2007

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री बाबूलाल गौर ने आज बैरागढ़ में एकीकृत बाल विकास परियोजना द्वारा आयोजित किशोरी शक्ति प्रशिक्षण योजना का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि अग्रणी और समृध्द भारत बनाने में महिलाएं अपना महत्वपूर्ण योगदान दे सकती है। उन्होंने महिलाओं के स्वास्थ्य, शिक्षा और उन्हें आत्म निर्भर बनाने पर जोर दिया।

महिला एवं बाल विकास द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम की अध्यक्षता महिला नेत्री श्रीमती कृष्णा गौर ने की। इस अवसर पर पार्षद श्री राजेश हिंगोरानी, पार्षद मालती राय, श्री साधुमल रिझवानी एवं पूर्व पार्षद श्रीमती मृदुला शर्मा मौजूद थी।

श्री गौर ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति श्री ए.पी.जे. अब्दुल कलाम ने सन् 2020 तक भारत को विश्व का अग्रणी देश बनाने का जो सपना देखा था उसे सफल बनाने में महिलाएं अह्म भूमिका निबाह सकती है। आवश्यकता इस बात की है कि उन्हें शिक्षित कर सक्षम बनाया जाय और आगे बढ़ने के लिए वातावरण दिया जाय। उन्होंने कहा कि भारत की बेटियों ने ही हमारी मूल संस्कृति को अक्षुण बनाए रखा। आक्रांताओं के कारण उनके सनातन अधिकारों में कटौती हुई अब उन्हें फिर से सशक्त किये जाने की आवश्यकता है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्रीमती कृष्णा गौर ने कहा कि महिलाओं की न्यूनतम जरूरतों की पूर्ति आवश्यक रूप से की जानी चाहिए। साथ ही उनके पोषण, स्वास्थ्य और शिक्षा पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। उन्होंने इस दिशा में विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यों की सराहना की।

इस अवसर पर बड़ी संख्या में गरीब तबके की किशोरियां और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मौजूद थीं।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण