जैव विविधता प्रबंधन समिति गठन की कार्यवाई पूर्ण

जैव विविधता प्रबंधन समिति गठन की कार्यवाई पूर्ण

जैव विविधता प्रबंधन समितियों के गठन में म.प्र. देश का पहला राज्य

भोपाल : तीन अगस्त, 2007

  पूर प्रदेश में जैव विविधता प्रबंधन समितियों के गठन की कार्यवाई पूर्ण हो गई है। ये समितियाँ जिला पंचायत, जनपद पंचायत, स्थानीय शहरी निकाय और ग्राम पंचायत स्तर पर गठित की गई हैं। राज्य शासन ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं।

मध्यप्रदेश देश का ऐसा पहला राज्य है जहाँ व्यापक स्तर पर जैव विविधता प्रबंधन समितियों का गठन किया गया है। ये समितियाँ प्रदेश की जैव विविधता संरक्षण में अहम भूमिका निभाएंगी। इन समितियों को तकनीकी सहयोग देने के लिए जिला एवं विकास खण्ड स्तर पर जैव विविधता तकनीकी सहयोग  समूहों की स्थापना की गई है।

जिला पंचायत स्तर पर 48, जनपद पंचायत स्तर पर 313 नगर निगम स्तर पर 14 नगर पालिक स्तर पर 87, नगर पंचायत स्तर पर 237 और ग्राम पंचायत स्तर पर 23 हजार 038 जैव विविधता प्रबंधन समितियों का गठन किया गया है। जनप्रतिनिधियों और विषय विशेषज्ञों को इन समितियों में शामिल किया गया है। राज्य शासन द्वारा इन समितियों को अनुदान राशि उपलब्ध कराई जा रही है।

जन सामान्य, शासकीय और अशासकीय संगठनों को जैव विविधता और इसकी महत्ता के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से जैव विविधता प्रबंधन समितियों द्वारा कार्यशालाएं, सम्मेलन, बैठकों आदि का आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा ये समितियाँ विद्यमान जैव विविधता औषधीय पौधों, फसलों, वन सम्पदाओं का प्रलेखन (डाक्यूमेन्टेशन) करेंगी। साथ ही समितियां ऐसे जैव संसाधनों के दोहन को भी रोकेंगी। जिनसे लोगों का जीवन संस्कृति या रोजगार प्रभावित हो रहा है।

 

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

प्रत्येक मतदान केन्द्र पर मतदाता की थर्मल स्क्रीनिंग होगी, कर सकेंगे मतदान