प्रदेश के पुरातत्वीय धरोहरों, स्मारकों और संग्रहालयों का संरक्षण एवं सुनियोजित विकास किया जायगा

प्रदेश के पुरातत्वीय धरोहरों, स्मारकों और संग्रहालयों का संरक्षण एवं सुनियोजित विकास किया जायगा

मध्यप्रदेश हेरीटेज डेवलपमेंट ट्रस्ट की बैठक सम्पन्न

संस्कृति, खनिज साधन राज्य मंत्री श्री लक्ष्मीकान्त शर्मा की अध्यक्षता में पुरातत्व अभिलेखागार एवं संग्रहालय संचालनालय में मध्यप्रदेश हेरीटेज डेवलपमेंट ट्रस्ट की कार्यकारिणी की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में राज्य मंत्री श्री लक्ष्मीकान्त शर्मा ने कहा कि प्रदेश के पुरातत्वीय धरोहरों, स्मारकों और संग्रहालयों का संरक्षण एवं सुनियोजित विकास किया जायगा। इसमें आंचलिक उद्योगपतियों और विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत संस्थाओं का सहयोग भी लिया जायगा। सांस्कृतिक धरोहर और पुरातात्विक सम्पदा के संरक्षण, संवर्धन एवं अनुरक्षण के लिए शासन स्तर से कार्ययोजना बनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि हमारे प्रदेश में आने वाले देशी-विदेशी पर्यटकों को प्रदेश की सांस्कृतिक और पुरातत्वीय धरोहरों की जानकारी सुलभता से मिल सके इसके लिए मीडिया प्लान बनाया जाय।

बैठक में निर्णय लिया गया है विभिन्न स्रोतों से मध्यप्रदेश विरासत विकास न्यास को प्राप्त होने वाली राशि प्रदेश के सभी संग्रहालयों के डाक्युमेन्टेशन, उन्नयन विकास एवं राज्य संरक्षित स्मारकों के अनुरक्षण, उन्नयन विकास कार्यों में व्यय की जाय। प्रदेश के इन्दौर, ग्वालियर, जबलपुर, भोपाल, उज्जैन आदि शहरों के आसपास के पुरातात्विक स्थानों को चिन्हित कर उनके संरक्षण का कार्य किया जाय। भोपाल स्थित राज्य संग्रहालय की जानकारी यहां आने वाले पर्यटकों को अवश्य होनी चाहिए। प्रदेश के 150 वर्ष के इतिहास में 1857 के बाद से अब तक पुरातात्विक धरोहरों पर बोर्ड लगाए जाने की योजना को मूर्तरूप दिया जा रहा है।

बैठक में ट्रस्ट की राशि से कराए गए कार्यों का अनुमोदन किया गया। ट्रस्ट के न्यासी सदस्यगण श्री के.के. चक्रवर्ती, श्री रमेश अग्रवाल, श्री एन. कोठारी, डा. आर.सी. अग्रवाल, श्री ए.के. चतुर्वेदी ने मध्यप्रदेश की पुरातत्वीय धरोहरों, स्मारकों और संग्रहालयों के संरक्षण और विकास के संबंध में अपने-अपने सुझाव दिए। संस्कृति सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव ने राज्य शासन द्वारा इस दिशा में किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी। मध्यप्रदेश हेरीटेज डेवलपमेंट ट्रस्ट के न्यासी सचिव श्री पंकज राग ने पुरातात्विक सम्पदा के संरक्षण की जानकारी के साथ ट्रस्ट के माध्यम से किए जाने वाले कार्यों की रूपरेखा पर प्रकाश डाला। बैठक में न्यासी सचिव को दिए जाने वाले वित्तीय अधिकारों का अनुमोदन भी किया गया। बैठक में संचालक बजट श्री अनिरूध्द मुकर्जी, आवास पर्यावरण विभाग की उप सचिव श्रीमती राजकुमार खन्ना सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

मतदाता जागरूकता के लिए रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त