ग्वालियर-चंबल संभाग में शत-प्रतिशत् ऋण पुस्तिकाओं का वितरण

ऋण पुस्तिकाओं को अपडेट करने की कार्यवाही सुनिश्चित की जावे : कमिश्नर डॉ. सिंह

ग्वालियर-चंबल संभाग में शत-प्रतिशत् ऋण पुस्तिकाओं का वितरण

ग्वालियर-चम्बल संभाग के कमिश्नर डॉ. कोमल सिंह ने कहा है कि राज्य सरकार किसानों की भलाई की दिशा में निरंतर प्रयास कर रही है। ग्वालियर-चंबल संभाग के अंतर्गत राजस्व अधिकारियों से ऋण पुस्तिकाओं को अपडेट करने की कार्यवाही सुनिश्चित कराई जायें। साथ ही इन पुस्तिकाओं में अक्स लगाने की दिशा में प्रयास किये जायें, जिससे किसानों को पटवारी और राजस्व निरीक्षक के चक्कर लगाने से निजात मिलेगी। वे आज शिवपुरी में ग्वालियर एवं चंबल संभाग के जिला कलेक्टरों की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

संभागायुक्त डॉ. सिंह ने कहा कि ग्वालियर और चम्बल संभाग के सभी जिलों में ऋण पुस्तिका बनाने का कार्य शत-प्रतिशत कराया गया है। उन्होंने कहा कि अविवादित, नामांतरण और बंटवारा के प्रकरण विगत 6 माह तक के शत-प्रतिशत निराकरण किए गए हैं, जिससे किसानों को लाभ पहुँचा है। उन्होंने कहा कि विवादित प्रकरणों को भी निश्चित समय-सीमा निर्धारित कर समय पर निराकरण सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि जिन जिलों में राजस्व, वन भूमि के क्षेत्र में भूमि के विनिमय की आवश्यकता हो, वहां निर्धारित प्रक्रिया अपनाई जाकर कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।

डॉ. सिंह ने कहा कि दोनों संभागों में रिक्त कोटवारों के पदों को भरने की कार्यवाही की जाये। साथ ही कोटवारों का दोनों संभागों के जिलों में आगामी 11 अगस्त को सम्मेलन आयोजित कर उनकी समस्याएं सुनी जाकर, निदान किया जाये। उन्होंने कहा कि 12 अगस्त, 07 को अनुसूचित जनजाति वर्ग के चुने हुए प्रतिनिधियों, जन-प्रतिनिधियों का सम्मेलन आयोजित किया जाकर, उनकी समस्याओं को हल करने की पहल की जाये। इसी प्रकार शासन की कल्याणकारी एवं जन-हितैषी योजनाओं के अंतर्गत लाभान्वित हितग्राहियों का भी एक सम्मेलन बुलाया जाये। जिसमें समाजसेवी संस्थाओं को भी सम्मिलित किया जाकर उनके अधिकारों के प्रति जनजाग्रति लाने की पहल की जाये।

महिला सशक्तिकरण की दिशा में महिला जन-प्रतिनिधियों का सम्मेलन 21 अगस्त, 07 के पूर्व आयोजित किया जाये। इसमें उनके हितों की दिशा में राज्य सरकार और जिला प्रशासन द्वारा किये जा रहे कार्यों की समीक्षा की जाकर पहुंचाये गये लाभ के बारे में जानकारी दी जाये। सभी सम्मेलनों में कलेक्टर अनिवार्य रूप से उपस्थित रहें।

बैठक में जिला कलेक्टर ग्वालियर, गुना, श्योपुर, दतिया, अशोकनगर जिलों में राजस्व विभाग के अंतर्गत निराकृत किये गये, सीमांकन, नामांतरण, बंटवारा, सीमाविवाद, वन-राजस्व भूमि के पट्टे, कोटवारों के रिक्त पदों के अलावा ऋण पुस्तिकाओं का वितरण और अनुकम्पा नियुक्ति के प्रकरणों के निराकरण के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

प्रत्येक मतदान केन्द्र पर मतदाता की थर्मल स्क्रीनिंग होगी, कर सकेंगे मतदान