भारतीय रेल के सुरक्षा संबंधी कार्यों में उल्लेखनीय प्रगति

भारतीय रेल के सुरक्षा संबंधी कार्यों में उल्लेखनीय प्रगति

       भारतीय रेल सुरक्षा संबंधी कार्यों को सबसे ज्यादा प्राथमिकता दे रही है । विशेष रेल सुरक्षा कोष (एसआरएसएफ) के तहत मंजूर कार्यों के निष्पादन मे उल्लेखनीय प्रगति हुई है । 17,000 करोड़ रुपये का यह कोष अक्तूबर, 2001 में बनाया गया था । 31 मार्च, 2007 तक 14,912 करोड़ रुपये मूल्य के सुरक्षा कार्य पूरे किए जा चुके हैं तथा वर्ष 2007-08 के दौरान 1,882 करोड़ रुपये लागत के सुरक्षा कार्य करने का लक्ष्य रखा गया है । 2003-2013 के लिए बनाई गई निगम सुरक्षा योजना में भारतीय रेल द्वारा वित्तीय स्कीमों के रूप में चलाए जाने वाले लक्ष्यों, उद्देश्यों और कार्यनीतियों को निर्धारित किया गया है । इन पर एसआरएस कोष सहित कुल 31,835 करोड़ रुपये का विशाल खर्चा आएगा । कार्य योजना में सुरक्षा संबंधित कार्यों, परसम्पत्तियों के आधुनिकीकरण तथा पुनरोध्दार, दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए मनुष्यों पर निर्भरता कम करने तथा गुणवत्ता बेहतर बनाने के लिए उचित प्रौद्योगिकियों को समाहित करने के वास्ते समय-सीमा तय की गई है । 

 

       सभी प्रमुख क्षेत्रों में लगभग 90 से लेकर 100 प्रतिशत तक भौतिक प्रगति हासिल की गई है । 31 मार्च, 2007 तक 16,538 किलोमीटर रेल ट्रैक का नवीनीकरण किया जा चुका है । पहचान किए गए 2,370 पुलों के पुनरोध्दार का कार्य अगले वित्तीय वर्ष के अंत तक पूरा कर लिया जाएगा । इसके अलावा 1359 स्थानों पर सिंग्नलिंग उपकरणों का नवीनीकरण, 5397 स्थानों पर स्टेशन ट्रैक सकिटिर्ंग का कार्य  वर्ष 2007-08 के अंत तक पूरा कर लिया जाएगा, जबकि 7698 वैगनों, 186 यात्री डिब्बों और 93 रेल ईंजनों के नवीनीकरण का कार्य 31 अगस्त, 2008 तक पूरा कर लिया जाएगा ।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

6 हजार 284 आंगनवाड़ी केन्द्रों से 4 लाख 55 हजार 238 बच्चे, गर्भवती महिलायें और धात्री माताओं को पोषण आहार से लाभान्वित

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 26 सितम्बर को स्थाई एवं निरंतर लोक अदालत का आयोजन