गांधी जयंती का राष्ट्रीय समर्पण दिवस के रूप में आयोजन

गांधी जयंती का राष्ट्रीय समर्पण दिवस के रूप में आयोजन

राज्यों से ग्रामीण विकास पर विशेष कार्यक्रम चलाने का आग्रह

       ग्रामीण विकास मंत्री डॉ0 रघुवंश प्रसाद सिंह ने राज्य सरकारों से 2 अक्तूबर, 2007 को  महात्मा गांधी की 138वीं जयंती के अवसर पर विशेष कार्यक्रम आयोजित करने का आह्वान किया है। सभी राज्योंकेन्द्र शासित प्रदेशों के ग्रामीण विकास मंत्रियों को लिखे पत्र में डॉ0 सिंह ने महात्मा गांधी के जन्म दिवस पर निम्नलिखित समारोह आयोजित करने का आग्रह किया है।

      इंदिरा आवास योजना के तहत बेघरों को आवास स्थल आबंटित करने के लिए जिले में कम से कम एक स्थान पर समारोह आयोजित करना तथा सभी लाभार्थियों के नाम पढक़र जागरूकता पैदा करना। इंदिरा आवास योजना के तहत वर्ष 2007-08 के लिए लाभार्थियों के नाम का चयन भी वही किया जाना चाहिए। राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के सामाजिक लेखापरीक्षण के लिए सभी पंचायतों में उस दिन ग्राम सभा बुलाना और इन सभाओं में वित्त वर्ष के दौरान राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत उपलब्ध कराए गए रोजगार का विवरण दिया जाना चाहिए।  सम्पूर्ण स्वच्छता अभियान को  प्रोत्साहन देने के लिए इस दिन को स्वच्छता दिवस के रूप में भी मनाना चाहिए। इस संबंध में अब तक अछूते गांवों में स्वच्छ शौचालयों का निर्माण  शुरू करना तथा सम्पूर्ण स्वच्छता अभियान के तहत प्रगति का अनुमानित खर्च बताया जाना चाहिए।  अलग-अलग घरों में निजी शौचलयों, स्कूलों में शौचालयों, आंगनबाड़ी शौचालयों और सामुदायिक शौचलयों के निर्माण के लिए एक राष्ट्रीय योजना भी बनानी चाहिए।

       इस वर्ष गांधी जयंती राष्ट्रीय समर्पण दिवस के रूप में मनाई जा रही है। महात्मा गांधी की जयंती को अन्तर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में मनाने की संयुक्त राष्ट्र की घोषणा के बाद यह निर्णय लिया गया है।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण