खेतिहर श्रमिकों का पंजीयन 11 अक्टूबर से होगा

खेतिहर श्रमिकों का पंजीयन 11 अक्टूबर से होगा

मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा योजना के तहत प्रदेश के भूमिहीन खेतिहर श्रमिकों का पंजीयन आगामी 11 अक्टूबर से प्रारंभ हो जाएगा। इसकी शुरूआत ग्राम पंचायत मुख्यालयों से होगी। इसके पश्चात प्रदेश के स्थापना दिवस एक नवम्बर से व्यापक स्तर पर खेतिहर श्रमिकों के पंजीयन का अभियान सम्पूर्ण प्रदेश में संचालित होगा। स्थापना दिवस के दिन आयोजित पंजीयन अभियान में मुख्यमंत्री, मंत्रीगण, सांसद और विधायकों सहित सभी जनप्रतिनिधि भाग लेंगे। खेतिहर श्रमिकों के फोटोयुक्त पंजीयन कार्ड तैयार किए जाएंगे। यह निर्णय आज यहाँ मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान की अध्यक्षता में योजना के क्रियान्वयन के संबंध में हुई बैठक में लिया गया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खेतिहर श्रमिकों के लिए मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा योजना प्रारंभ करने की घोषणा गत 20 सितम्बर को की थी। योजना के तहत ऐसे व्यक्ति पात्र नहीं होंगे जिनका पंजीयन निर्माण श्रमिक के रूप में हुआ है। नियमित नियोजन के अभाव में खेतिहर श्रमिक मजदूरी के छोटे-छोटे कार्यों में संलग्न रहते हैं। वर्ष भर कार्य न मिलने के कारण इन श्रमिकों को आर्थिक कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। राज्य सरकार ने इन श्रमिकों के कल्याण के लिए मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा योजना के तहत महिला खेतिहर श्रमिकों को प्रसूति व्यय एवं डेढ़ माह की मजदूरी सहित अवकाश, श्रमिक पति को दो सप्ताह का पितृत्व अवकाश एवं मजदूरी का भुगतान, श्रमिकों के बच्चों को छात्रवृत्ति, विवाह सहायता, चिकित्सा सहायता, मृत्यु के बाद अंत्येष्टि के लिए सहायता राशि, बीमा सहायता आदि देने की व्यवस्था की है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उनका मंतव्य बड़ी संख्या में कार्यरत खेतिहर श्रमिकों को आर्थिक सहारा उपलब्ध कराना है। श्री चौहान ने निर्देश दिए कि श्रमिकों के पंजीयन के लिए प्रपत्र सरल भाषा में उपलब्ध कराने एवं योजना के क्रियान्वयन की प्रक्रिया आसान बनाई जाए। गाँव की अधिसंख्य आबादी खेतीबाड़ी एवं संबंधित श्रमिक कार्यों से सम्बध्द है। इस वर्ग के हित में शुरू की गई मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा योजना का बेहतर क्रियान्वयन होना चाहिए। क्रियान्वयन में मैदानी राजस्व अमले के साथ ही अन्य शासकीय विभागों का सहयोग भी लिया जाएगा।

बैठक में मुख्य सचिव श्री राकेश साहनी, अपर मुख्य सचिव श्री प्रदीप भार्गव, प्रमुख सचिव श्री इकबाल अहमद, प्रमुख सचिव श्री राकेश बंसल, प्रमुख सचिव वित्त श्री अशोक दास, श्री प्रवेश शर्मा, मुख्यमंत्री के सचिवगण उपस्थित थे।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

प्रत्येक मतदान केन्द्र पर मतदाता की थर्मल स्क्रीनिंग होगी, कर सकेंगे मतदान