मुरैना शहर में चोरों ने बाजी मारी, बिजली की गोताखोरी से पुलिस अफसर भी परेशान

मुरैना शहर में चोरों ने बाजी मारी, बिजली की गोताखोरी से पुलिस अफसर भी परेशान
मुरैना 07/ शहर में आये दिन चोर चोरी कर अपना अंजाम देकर भाग निकलते है और यह वाक्या शहर के बीचों बीच जहां पर पुलिस चौकी नजदीक होते हुए भी पुलिस की गिरफ्त से बहुत दूर है । अब सुख चैन एवं शांति नहीं, अशांति उत्पन्न काफी चरम सीमा पर लांग गई है और चोरों के भी क्या कहने है कि चोर माल उड़ाकर भागने में सफल हो जाते है । पुलिस चोरों को पकड़ने में नाकामयाब साबित हो रही है। रही सही कसर भी बिजली भी गुल खिला देती है । लाईट थोड़ी बहुत आती भी है जिससे बैटरिया कम चार्ज होने पर थोड़ी देर तक कार्य करती है बैटरियां डिसचार्ज हो जाती है । बिजली की व्यवस्था चरमरा जाने से भी पुलिस अफसर परेशान है फोन भी काम करना बन्द हो जाते है और इसी का फायदा उठाकर चोर भी खूब मलाई मार रहे है । आज कल देखने में आया है कि चोर भी मैन बाजार में चोरी कर एवं लूट करके अपना अंजाम शहर के रेल्वे स्टेशन, सूबात रोड, एम.एस. रोड पर चोरी कर भाग निकलने में कामयाब होते है ।
यह कहावत इस युग में सिध्द होती है कि -
''राम नाम की लूट है, लूट सके तो लूट, अन्तकाल पछतायेगा प्राण जायेगें छूट''
इससे ज्यादा और भी क्या हो सकता है बिजली गुल हो जाने से जनता स्वयं ही सुरक्षा करे । बेचारे गरीब दुकानदार अपनी दुकान में सामान भरते भी है तो चोर उनका माल साफ कर देते है । पुलिस भी रिपोर्ट लिख कर कह देती है कार्यवाही जारी है ।
बिजली विभाग का महकमा, पुलिस अफसरों के साथ शहर में बिजली चोरी को पकड़ने के लिये इधर-उधर पकड़ कर कार्यवाही कर रही है । लेकिन इससे यह सिध्द नहीं होता है कि वास्तव मे चोरी करने वाले को ही पकड़ा जा रहा है । 1.नैनागढ़ रोड पर लगा ट्रांसफार्मर पर देखिये । 2. वनखण्डी रोड पर लगे ट्रासफार्मर पर देखिये और शहर और गलियों में भी देखा जाये तो बिजली चोरी करने वालों के भी क्या कहने । जो बिल भरता है उसको लाईट पूरी मिले या नहीं बिल पूरा भरना पड़ेगा और वह भरता है ।
जनता इतनी आतंकित हो चुकी है कि शहर में आये दिन बिजली गुल, दूसरी ओर चोरी से पिस रही है जनता जनार्दन। इन दिनों शहर में वोटों के लिये नेताओं का आना जाना चल रहा है, और कहता/कहती है मैं बिजली दूंगा, मैं पानी की भरमार कर दूंगा, मैं बेरोजगारी दूर कर दूंगा, मै आपके शहर का विकास कर दूंगा, मैं चोरियां मिटा दूंगा, और जाने क्या-क्या आप मुझे वोट दो मैं आपको .................... दूंगा ।
आगे का भाग दूसरी किश्त में पढ़ना न भूलिये ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

6 हजार 284 आंगनवाड़ी केन्द्रों से 4 लाख 55 हजार 238 बच्चे, गर्भवती महिलायें और धात्री माताओं को पोषण आहार से लाभान्वित

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 26 सितम्बर को स्थाई एवं निरंतर लोक अदालत का आयोजन

मतदाता जागरूकता के लिए रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन