नौ राज्यों ने प्रदेश में निवेश के लिये गहरी रुचि प्रदर्शित की (जबलपुर इन्वेस्टर्स मीट)

नौ राज्यों ने प्रदेश में निवेश के लिये गहरी रुचि प्रदर्शित की (जबलपुर इन्वेस्टर्स मीट)
46 हजार करोड़ रुपये से अधिक के 41 करारनामे किये
संजय गुप्‍ता/मांडिल/ मुरैना ब्‍यूरो चीफ मुरैना 19 फरवरी 08जबलपुर में हाल ही में सम्पन्न हुई इन्वेस्टर्स मीट में मध्यप्रदेश के अलावा देश के अन्य नौ राज्यों के निवेशकों ने भी प्रदेश में निवेश करने में गहरी रुचि प्रगट की है। इस मीट में देश के अन्य राज्यों के 36 निवेशकों ने 46337 करोड़ रुपये लागत के 41 करारनामों पर हस्ताक्षर किये हैं। उल्लेखनीय है कि जबलपुर इन्वेस्टर्स मीट में 56829 करोड़ रुपये के 61 करारनामों पर हस्ताक्षर किये गये हैं।
मीट में किये गये निवेश की राशि की दृष्टि से देश का दिल्ली राज्य 18150 करोड़ रुपये के प्रस्ताव के साथ सबसे ऊपर है, जबकि निवेश के प्रस्तावों की संख्या के लिहाज से पश्चिम बंगाल पहले स्थान पर है, जिसकी राजधानी कोलकाता के औद्योगिक समूहों ने पूंजी निवेश के 13 प्रस्ताव प्रस्तुत किये हैं।
पश्चिम बंगाल राज्य की राजधानी कोलकाता के नौ औद्योगिक समूहों ने 12,602 करोड़ रुपयों के 13 प्रस्ताव प्रस्तुत किये हैं। कोलकाता की मेसर्स एम.एस.पी. स्टील एण्ड पॉवर लिमिटेड ने कटनी और जबलपुर में लौह अयस्क संबंधी संयंत्र की स्थापना के 200-200 करोड़ रुपये के दो पृथक-पृथक प्रस्ताव और डिण्डौरी तथा अनूपपुर में एल्युमिना प्लान्ट के लिये 700 करोड़ रुपये का प्रस्ताव प्रस्तुत किया है। एस.पी.जे. स्टील एण्ड मिनरल प्रायवेट लिमिटेड,कोलकत्ता ने दमोह जिले के पथरिया में स्टील प्लान्ट और पॉवर प्लान्ट के लिये 2250 करोड़ रुपये का प्रस्ताव प्रस्तुत किया है। रश्मि मेटालिक लिमिटेड ने फेरो मेग्नीज संयंत्र के लिये 2000 करोड़ रुपये, सीमेन्ट प्लान्ट के लिये 1200 करोड़ रुपये और एल्यूमीनियम प्लान्ट के लिये 1000 करोड़ के प्रस्ताव प्रस्तुत किये हैं। जैन स्टील एण्ड पॉवर लिमिटेड, कोलकत्ता ने स्टील और सीमेन्ट प्लान्ट के लिये 1000 करोड़ रूपये, रूंगटा माइन्स लिमिटेड ने कटनी में सीमेन्ट प्लान्ट के लिये 450 करोड़ रुपये, इलेक्ट्रो स्टील कास्ंटिग लिमिटेड, कोलकत्ता ने शहडोल में कोलवाशरी-पॉवर प्लान्ट-सीमेन्ट प्लान्ट के लिये 2380 करोड़ रूपये, आधुनिक कार्पोरेशन लिमिटेड, कोलकत्ता ने सीमेन्ट और स्टील निर्माण संयंत्र के लिये 1150 करोड़ रुपये, परफेक्ट रीफेक्ट्रीज लिमिटेड, कोलकत्ता ने जबलपुर में रीफेक्टरी प्लान्ट के लिये 50 करोड़ रुपये और फेयर फूड ओवरसीज प्रायवेट लिमिटेड,कोलकत्ता ने कटनी में चावल मिल की स्थापना के लिये 22 करोड़ रुपये का प्रस्ताव प्रस्तुत किया है।
दिल्ली राज्य के दिल्ली स्थित नौ औद्योगिक समूहों ने कुल 18,150 करोड़ रुपये के नौ प्रस्ताव प्रस्तुत किये हैं। दिल्ली की भूषण स्टील लि. ने कोक ओवन प्लान्ट के लिये 3000 करोड़ रुपये, के.जे.एस. सीमेन्ट प्रायवेट लिमिटेड ने मैहर में ग्रीन फील्ड सीमेन्ट प्लान्ट के लिये 750 करोड़ रुपये, सिम्भाली शुगर लिमिटेड ने शक्कर इकाई के लिये 400 करोड़ रुपये और द डी.एस.पी. फिनप्रिन्ट लिमिटेड ने सतना में सीमेन्ट प्लान्ट के लिये 750 करोड़ रुपये के प्रस्ताव प्रस्तुत किये हैं। ऊर्जा के क्षेत्र में जिन्दल इण्डिया थर्मल पॉवर लिमिटेड,दिल्ली ने सीधी में थर्मल पॉवर प्रोजेक्ट के लिये 9000 करोड़ रुपये और गोयल एम.जी. गैसेस नई दिल्ली ने खण्डवा में पॉवर प्लान्ट के लिये 4000 करोड़ रुपये के प्रस्ताव प्रस्तुत किये हैं। कृषि प्रसंस्करण के क्षेत्र में जेट्रोफा, हर्बल और अनुपयोगी भूमि में औषधीय पौधों की खेती के लिये दिल्ली की जधाना अल्टरनेटिव एनर्जी सोल्यूशन्स प्रायवेट लिमिटेड ने 50 करोड़ रुपये और अमृत एक्जिम प्रायवेट लिमिटेड तथा मावनदिये बायोटेक प्रा.लि. दिल्ली ने 100-100 करोड़ रुपये के प्रस्ताव प्रस्तुत किये हैं।
मीट में महाराष्ट्र के नौ निवेशकों ने 5710 करोड़ रुपये के दस निवेश प्रस्ताव पर हस्ताक्षर किये हैं। नागपुर के अभिजीत सीमेन्ट प्रा.लि. ने मुरैना में सीमेन्ट प्लान्ट के लिये 800 करोड़ रुपये, कार्पोरेट इस्पात एलॉयज लि., नागपुर ने कोलवाशरी, कोक ओवन आदि के लिये 800 करोड़ रुपये और जायसवाल नीको इण्डस्ट्रीज, नागपुर ने भी कोल इकाई के लिये 1465 करोड़ रुपये के प्रस्ताव पर सहमति प्रगट की है। महाराष्ट्र राज्य के मुम्बई की अग्रवाल इण्डोटेक्स लि. ने बालाघाट में मैेगनीज उत्पादन के लिये 110 करोड़ रुपये, बी.एल.ए. पॉवर प्रा.लि. ने नरसिंहपुर में सीमेन्ट प्लान्ट के लिये 300 करोड़ रुपये, इन्फोट्रेक सिसकाम लि. ने भोपाल और इंदौर में प्लास्टिक और इलेक्ट्रानिक वेस्ट रीसाइक्लिंग प्रोजेक्ट के लिये 35 करोड़ रुपये और अनिक इण्डस्ट्रीज लि. ने नरसिंहपुर में मार्बल ग्रेनाइट प्रोसेसिंग प्रोजेक्ट के लिये 200 करोड़ रुपये और जबलपुर में पिग आयरन प्रोजेक्ट के लिये 200 करोड़ रुपये सार्थक इन्ड्रस्टीज लि., मुंबई ने धार व झाबुआ में सीमेंट प्लांट के लिए 700 करोड़ रूपये तथा यूरो बाण्ड इण्डस्ट्रीज प्रा.लि. ने जबलपुर, छतरपुर और कटनी में लौह अयस्क संबंधी इकाईयों के लिये 1100 करोड़ रुपये के करारनामे हस्ताक्षरित किये हैं।
मीट में छत्तीसगढ़ राज्य के रायपुर के दो औद्योगिक समूहों ने 2415 करोड़ रुपये के प्रस्ताव पर दस्तखत किये हैं, जिसमें से एस.के.एस. इस्पात एण्ड पॉवर लि. ने सिंगरोलीत(छिन्दवाड़ा) में स्टील प्लान्ट के लिये 2000 करोड़ रुपये और रघुवीर फेरो एलॉय प्रा.लि. ने केप्टिव पॉवर प्लान्ट फेरो एलॉयज प्लान्ट और कैप्टिव माइन्स के लिये 415 करोड़ रुपये का करारनामा किया है। गुजरात की ए.एस.आर. मल्टी मेटल्स प्रा.लि. गांधी धाम ने कटनी में स्टील प्लान्ट के लिये 150 करोड़ रुपये और सांघी एनर्जी लि.कच्छ ने सतना में पॉवर प्लान्ट के लिये 1620 करोड़ रुपये के अनुबंध पर हस्ताक्षर किये हैं। हरियाणा राज्य के गुड़गांव की दो औद्योगिक इकाईयों ने प्रदेश में 200 करोड़ रुपये के पूंजी निवेश के प्रस्ताव प्रस्तुत किया है जिसमें से एग्रो वेव प्रा.लि. ने इंदौर और अन्य शहरों में आई.टी.एस.ई.जेड. के लिये 100 करोड़ रुपये और ई. बिजनेस पॉटकॉम प्रा.लि. ने जबलपुर और इंदौर में 100 करोड़ रुपये के निवेश पर सहमति प्रगट की है। राजस्थान के जयपुर की कमल स्टील एण्ड पॉवर लि. ने सतना में स्पंज आयरन प्लांट स्टील और पॉवर प्लान्ट के लिये 600 करोड़ रुपये निवेश करने का प्रस्ताव प्रस्तुत किया है। चैन्नई की ओ.पी. एनर्जी प्रा.लि. ने छिन्दवाड़ा और झाबुआ में पॉवर प्लान्ट के लिये 4000 करोड़ रुपये के और कर्नाटक राज्य के अम्मासान्द्रा जिला तुमकुर, तालुक तुरूविकेरे की मैसूर सीमेन्ट ने दमोह में सीमेन्ट प्लान्ट के लिये 890 करोड़ रुपये का प्रस्ताव प्रस्तुत किया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण