भूतपूर्व सैनिकों ने कारगिल विजय दिवस मनाया

भूतपूर्व सैनिकों ने कारगिल विजय दिवस मनाया

Bhopal:Thursday, July 26, 2007

जिला सैनिक विश्रामगृह में आज भूतपूर्व सैनिकों ने कारगिल विजय दिवस मनाया। पूर्व सैन्य पदाधिकारियों ने कारगिल के शहीद मेजर अजय प्रसाद और अन्य शहीदों के चित्रों पर पुष्प अर्पित कर उनको श्रृध्दांजलि अर्पित की। सैन्य पदाधिकारियों ने कारगिल विजय दिवस पर भारतीय सैनिकों के जोश और पराक्रम के साथ ही उस दुर्गम पहाड़ी स्थल को भी शब्दों से रेखांकित किया, जिस पर सेना के जाँबाजों ने विजय प्राप्त की थी। इस अवसर पर शहीद मेजर अजय प्रसाद सेना मेडल मरणोपरांत के माता-पिता श्री आर.एन. प्रसाद और शहीद कैप्टन देवाशीष शर्मा कीर्तिचक्र मरणोपरांत की माता श्रीमती निर्मला को भी सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर भोपाल सब एरिया कमाण्डर ब्रिगेडियर पी.सी. चौधरी ने कहा कि शहीद के परिजनों को जीवन पर्यन्त दु:ख का एहसास होना स्वभाविक है किन्तु देश के लिए अपने प्राणों का बलिदान देने वाले 'अमर' है। उन्होंने कहा कि इन्हीं बलिदानियों की शौर्यगाथा हमारी सेना का मनोबल है, जो देश और देशवासियों की रक्षा के लिए सरहदों पर तैनात है।

कारगिल दिवस पर आयोजित समारोह में एयर मार्शल व्ही.के. वर्मा, ब्रिग्रेडियर के.पी. पांडे, महावीर चक्र, एयर वाइस मार्शल ए.वी. पेठिया वीरचक्र, वी.आर.सी. ब्रिग्रेडियर एन.एस. सुरे, ए.वी.एस.एम., मेजर जनरल एस.आर. सिन्हो, कर्नल एस. कुमार वी.एस.एम. तथा कर्नल एस.सी. दीक्षित ने कारगिल विजय और शहीदों के बलिदानों को याद कर अपने श्रृध्दा सुमन अर्पित किये।

सैन्य पदाधिकारियों ने इस अवसर पर कहा कि भारतीय सेना विश्व में सबसे जाँबाज आर्मी है। इसके सिपाहियों ने लगभग दो महीने में ही शून्य से नीचे के तापमान वाली दुर्गम पहाड़ी के ऊपर बैठे शत्रु को परास्त किया और हमें कारगिल विजय दिवस मनाने का मौका दिया। अंत में एक्स सर्विस मेन लीग के अध्यक्ष कर्नल एस. कुमार, वी.एस.एम. ने आभार व्यक्त किया।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

6 हजार 284 आंगनवाड़ी केन्द्रों से 4 लाख 55 हजार 238 बच्चे, गर्भवती महिलायें और धात्री माताओं को पोषण आहार से लाभान्वित

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 26 सितम्बर को स्थाई एवं निरंतर लोक अदालत का आयोजन

मतदाता जागरूकता के लिए रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन