जिला कलेक्टर्स प्रभावी रणनीति बनाकर मतदाता पत्र की फोटोग्राफी में तेजी लावें- श्री माथुर

जिला कलेक्टर्स प्रभावी रणनीति बनाकर मतदाता पत्र की फोटोग्राफी में तेजी लावें- श्री माथुर

ग्वालियर 24 जुलाई 2007

प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जे.एस. माथुर ने कहा है कि जिला कलेक्टर्स व्यक्तिगत रूचि लेकर मतदाता पहचान पत्र व निर्वाचक नामावलियां तैयार करने के लिये कराई जा रही फोटोग्राफी में तेजी लावें । मतदाताओं की फोटोग्राफी का काम निर्धारित समय-सीमा के भीतर पूर्ण होना चाहिये । इसके लिये जिला कलेक्टर्स स्थानीय स्तर पर प्रभावी रणनीति बनाकर कार्य में गति लावें । श्री माथुर आज यहां राज्य स्तरीय स्वास्थ्य प्रबंधन एवं संचार संस्थान में सम्पन्न हुई बैठक में ग्वालियर और चंबल संभाग के सभी जिलों में फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र व निर्वाचक नामावलियों की तैयारी की समीक्षा कर रहे थे।

       बैठक में ग्वालियर एवं चंबल संभाग के कमिश्नर डॉ. कोमल सिंह, राज्य निर्वाचन आयोग के अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री के.सी. गुप्ता, दोनों संभागों के सभी जिलों के कलेक्टर्स एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी व संबंधित अधिकारियों सहित फोटोग्राफी के काम में लगे वेंडर उपस्थित थे ।

       त्रुटि रहित फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र व निर्वाचक नामवलियां तैयार करने पर जोर देते हुये मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जे.एस. माथुर ने कहा कि जैसे-जैसे फोटोग्राफी होती जाये वैस-वैसे मतदाता पहचान पत्र भी तैयार किये जायें, जिससे त्रुटि की संभावना कम रहे । उन्होंने कहा कि मतदाता पहचान पत्र व निर्वाचक नामावली की हर स्तर पर फोटो चेकलिस्ट और बेसिक चेकलिस्ट के आधार पर जांच की जाये जिससे त्रुटि रहित पहचान पत्र व सूचियां तैयार हो सकें । श्री माथुर ने मतदाता के फोटो व नाम की जांच पर खास ध्यान देने पर बल दिया । उन्होंने साफतौर पर कहा कि इस कैलेण्डर वर्ष में ही यह काम पूरा कराने की जबावदेही जिला कलेक्टर्स की है । अत: वे बी.एल.ओ. के अलावा राजस्व तथा अन्य विभागों के अमले का भी सहयोग लें, ताकि समय-सीमा के भीतर फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र व निर्वाचक नामावलियां तैयार कराई जा सकें । मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि यदि वेंडर फोटोग्राफी के लिये केमरामैन की संख्या नहीं बढ़ाते हैं तो कलेक्टर्स अपनी तरफ से भी स्थानीय फोटोग्राफी दल की व्यवस्था कर सकते हैं। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि फोटोग्राफी दल का स्थानीय लोगों से तालमेल कराकर उनके ठहरने की व्यवस्था स्थानीय स्तर पर करायें, जिससे रोज-रोज मुख्यालय तक आने-जाने में लगने वाले समय की बचत हो सके और अधिक मतदाताओं की फोटोग्राफी कराई जा सके ।

       उन्होंने बी.एल.ओ. को और सक्रिय करने पर जोर देते हुये कहा कि वे घर-घर में संपर्क कर मतदाताओं के पासपोर्ट साइज के फोटोग्राफ प्राप्त करें । श्री माथुर ने बताया कि बी.एल.ओ. को इस काम के लिये मानदेय के अलावा दो रूपये प्रति मतदाता फोटोग्राफ के हिसाब से अतिरिक्त भुगतान किया जायेगा ।

       मुख्य निर्वाचक पदाधिकारी ने कहा कि पहचान पत्र तैयार करने के लिये फोटोग्राफी का काम हर हालत में 15 सितम्बर तक पूर्ण करें, ताकि फोटोयुक्त निर्वाचक नामावलियों का प्रथम प्रकाशन 15 अक्टूबर को किया जा सके । उन्होंने निर्वाचक नामावलियां की प्रिटिंग कराने के लिये क्षमतावान प्रिंटर्स को भी अभी से चिन्हित करने की बात कही ।

       अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री के.सी. गुप्ता ने बैठक में जानकरी दी कि ऐसे मतदाताओं की पुन: फोटोग्राफी की जानी है, जिनके फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र तो बन गये हैं, परंतु उनकी फोटोइमेज निर्वाचन कार्यालय में उपलब्ध नहीं है । उन्होंने कहा कि ऐसे सभी मतदाताओं के पुराने फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र जमा करा लिये जायें । श्री गुप्ता ने निर्वाचक नामावली तैयार करने संबंधी विभिन्न प्रपत्रों तथा अन्य उपयोगी जानकारी भी प्रदान की ।

       ग्वालियर एवं चंबल संभाग के कमिश्नर डॉ. कोमल सिंह ने बताया कि दोनों संभागों में फोटोग्राफी का कार्य पूर्ण कराने के लिये 834 अतिरिक्त फोटोग्राफी दलों की आवश्यकता होगी । उन्होंने सभी जिलों के कलेक्टर्स से कहा कि वे समीपवर्ती राज्यों के बड़े शहरों से अतिरिक्त केमरामैन का प्रबंध कर सकते हैं । कमिश्नर ने ग्वालियर कलेक्टर्स से भी इन जिलों के लिये केमरामैन का प्रबंध करने की बात कही । बैठक में दोनों संभागों के सभी जिलों के कलेक्टर्स से पृथक-पृथक चर्चा कर फोटोग्राफी कार्य में आ रहीं कठिनाइयों तथा तब तक की प्रगति के बारे में जानकारी प्राप्त की गई । ग्वालियर जिले के कलेक्टर श्री राकेश श्रीवास्तव ने बताया कि जिले में फोटोग्राफी का कार्य पूर्ण कराने के लिये 22 अतिरिक्त फोटोग्राफी दलों की आवश्यकता होगी । उन्होंने फोटोग्राफी कार्य को द्रुतगति से पूर्ण करने के लिये महत्वपूर्ण सुझाव भी दिये ।

अगले चुनाव में फोटो पहचान पत्र अनिवार्य

राज्य निर्वाचन आयोग के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जे.एस. माथुर ने आज सम्पन्न हुई बैठक में जानकारी दी कि अगले आम चुनाव में वे ही मतदाता वोट डाल पायेंगे जिनके पास फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र होंगे । अत: इस बात का व्यापक प्रचार-प्रसार करें तथा इस काम में सामाजिक संस्थाओं, राजनैतिक दलों और प्रबुध्द नागरिकों का भी सहयोग लें ।

सभी जिलों के वेण्डर्स से भी की चर्चा

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जे.एस. माथुर ने आज सम्पन्न हुई बैठक में ग्वालियर एवं चंबल संभाग के जिलों में फोटोग्राफी का कार्य कर रहे प्रत्येक वेण्डर्स को सचेत करते हुये कहा कि उनका भुगतासन तभी होगा जब मतदाता के फोटो पहचान पत्र तैयार हो जायेंगे । अत: वे अपने जिले के कलेक्टर व उप जिला निर्वाचन अधिकरी सतत संपर्क में रहें और उनके निर्देशों का पालन कर त्वरित गति से फोटोग्राफी करायें ।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

6 हजार 284 आंगनवाड़ी केन्द्रों से 4 लाख 55 हजार 238 बच्चे, गर्भवती महिलायें और धात्री माताओं को पोषण आहार से लाभान्वित

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 26 सितम्बर को स्थाई एवं निरंतर लोक अदालत का आयोजन

मतदाता जागरूकता के लिए रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन