संबल योजना बेसहारा लोंगो को संबल देने की योजना है राज्यमंत्री श्री डण्डोतिया ने हितग्राहियों को अनुग्रह राशि के चैको का किया वितरण

संजय गुप्‍ता मांडिल, मुरैना/  प्रदेश के किसान कल्याण तथा कृषि विकास राज्यमंत्री श्री गिर्राज डण्डोतिया ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व की सरकार गरीबो, वेसहारा लोंगो की सरकार है। सरकार इनके उत्थान के लिये हर संभव प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि संबल योजना भी सर्वहारा गरीबो को संबल देने की योजना है। इस योजना के तहत गरीब मजदूर (श्रमिको) को दुर्घटना में मृत्यु होने पर राज्य सरकार द्वारा 4 लाख रूपये और सामान्य मृत्यु होने पर 2 लाख रूपये की अनुग्रह राशि पीडि़त परिजनों को दी जाती है। यह राशि इन श्रमिक, असहाय लोंगो को जीवन जीने का सहारा देती है। इस राशि से परिवार रोजगार धंधे खोलकर अपना जीवन यापन कर सकते है।
     राज्यमंत्री श्री डण्डोतिया बुधवार को अंबाह में गरीब कल्याण सप्ताह के अन्तर्गत श्रम विभाग द्वारा मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना के तहत अनुग्रह सहायता राशि वितरण ’’आपका संबल, आपकी सरकार’’ आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि बतौर संबोधित करते रहे थे। मौके पर जिला पंचायत के सीईओ श्री तरूण भटनागर, एसडीएम अंबाह, जनपद सीईओ सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे। मौके पर राज्यमंत्री श्री डण्डोतिया ने संबल योजना हितग्राहियों को 4-4 लाख रूपये के चैक भेंट किये।
    राज्यमंत्री श्री गिर्राज डण्डोतिया ने कहा कि संबल योजना की सबसे बड़ी योजना है। आपका हक आपको देने के लिये संबल योजना बनाई है। उन्होंने कहा कि इस योजना के अलावा सरकार ने निरामयम् आयुष्मान योजना, गरीब बच्चों के स्कूल, कॉलेजों की फीस, लड़की की शादी के लिये कन्यादान योजना, गरीबो के लिये मकान देने सहित अन्य कई योजनायें संचालित की है।  
    राज्यमंत्री श्री डण्डोतिया ने कहा कि गरीब कल्याण सप्ताह के दौरान आज भोपाल में हमारे मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने 3 हजार 700 संबल के हितग्राहियों के खातों में 80 करोड़ रूपये की राशि डाली है। मुरैना जिले में भी 182 लोंगो के खातों में 3 करोड़ 94 लाख रूपये की राशि डाली गई है। यह राशि गरीबो के लिये बहुत उपयोगी सिद्ध होगी।
3 हजार 385 लोंगो को 36 करोड़ 41 लाख 10 हजार रूपये की सहायता वितरित
    जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री तरूण भटनागर ने कहा कि मध्यप्रदेश अंसगठित शहरी एवं ग्रामीण कर्मकार कल्याण मण्डल द्वारा संचालित संबल योजना के तहत जिले में अभी तक 3 हजार 385 लोंगो को 36 करोड़ 41 लाख 10 हजार रूपये की सहायता राशि वितरित की गई है। इसमें 1 हजार 743 परिजनों को अंत्येष्टी सहायता के रूप में 87 लाख 10 हजार, सामान्य मृत्यु की दशा में 1 हजार 496 लोंगो को 29 करोड़ 86 लाख रूपये की अनुग्रह सहायता राशि वितरित की गई है। दुर्घटना की दशा में 142 परिजनों को 5 करोड़ 68 लाख रूपये की अनुग्रह राशि का वितरण किया गया है। स्थायी अपंगता की दशा में 2 लोंगो को 4 लाख रूपये और आशिंक स्थाई अपंगता की दशा में 2 लोंगो को 2 लाख रूपये की अनुग्रह राशि वितरित की गई है।  
जिला मुख्यालय पर भी हुआ आयोजन
    गरीब कल्याण सप्ताह के अन्तर्गत जिला मुख्यालय पर टाउनहॉल में पूर्वान्ह 11 बजे से मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना के अन्तर्गत अनुग्रह सहायता राशि का वितरण ’’आपका संबल, आपकी सरकार’’ कार्यक्रम के तहत किया गया। मौके पर जनसम्पक विभाग के संयुक्त संचालक श्री डी.डी.शाक्यवार, नगर निगम पीआरओ श्री रहीम चौहान, लेवर इन्स्पेक्टर श्री यतेन्द्र सिंह भदौरिया ने संबल हितग्राही कल्याणी श्रीमती मुन्नी देवी को 2 लाख रूपये का चैक भेंट किया। श्रीमती मुन्नी देवी के पति भागीरथ का निधन बीमारी के चलते हो गया था।
    इस अवसर पर बताया गया कि मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना के तहत नगर निगम मुरैना क्षेत्र में 298 लोंगो को 1 करोड़ 6 लाख 75 हजार रूपये की राशि का वितरण किया गया है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा आज संबल योजना के 3 हजार 700 हितग्राहियों के खातों में 80 करोड़ रूपये डाले गये है, इनमें से मुरैना जिले के 182 हितग्राहियों के खातों में 3 करोड़ 94 लाख रूपये डाले गये है।  
    मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना के अन्तर्गत अनुग्रह सहायता राशि का वितरण ’’आपका संबल, आपकी सरकार’’ कार्यक्रम का भोपाल से मुख्यमंत्री जी का लाईव कार्यक्रम टेलीकास्ट टाउनहॉल में लगाई गई एलईडी पर किया गया, जिसे उपस्थित जनसमुदाय ने पूरी उत्सुकता के साथ देखा। लाइव टेलीकास्ट का प्रसारण जिला मुख्यालय के टाउनहॉल सहित अंबाह तथा अन्य स्थानों पर भी किया गया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण