प्रियंका, पिंकी, कल्पना, धर्मेन्द्र, रवी, कल्याण सिंह, मुन्नालाल, मदन पथ विक्रेता योजना में 10-10 हजार का चैक लेकर अपने व्यवसाय को बढ़ा सकेंगे (खुशियों की दस्तां)


Sanjay Gupta Mandil, MORENA/  फुटकर पथ विक्रेता सुश्री प्रियंका, पिंकी, राधा, माया, कल्पना, धर्मेन्द्र मांझी, रवी मांझी, कल्याण सिंह, धर्मवीर और मुन्नालाल अब पथ विक्रेता योजना से 10-10 हजार रूपये का चैक लेकर अपने व्यवसाय को और अधिक बढ़ा सकेंगे, जिससे उनका आर्थिक, सामाजिक उन्नयन हो सकेगा। वे अपने परिवार को अच्छी तरह से चला सकेंगे। व्यवसाय अच्छा चलने पर वे अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिला सकेंगे। 
    मुरैना विकासखण्ड के मदन और पिंकी ने बताया कि हमें आज पथ विक्रेता ऋण वितरण कार्यक्रम में 10-10 हजार रूपये का बगैर ब्याज गारंटी के चैक मिला है। हम वास्तव में पैसे का सदुपयोग करके अपने पुराने व्यवसाय को और अधिक बढ़ा सकेंगे। इससे हमें और अधिक आमदनी होगी, जिससे हम अपने घर-गृहस्थी को अच्छी तरह से चला सकेंगे। पिंकी ने बताया कि व्यवसाय बढ़ जाने से आमदनी भी बढ़ेगी। इससे अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देंगे।
    अंबाह क्षेत्र के धर्मवीर, कल्याण सिंह और मुन्नालाल ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के प्रति आभार व्यक्त करते हुये कहा कि वास्तव में प्रदेश के मुख्यमंत्री गरीबो के मसीहा है, उनके द्वारा गरीबो के हितों में कई कल्याणकारी योजनायें चलाई है। हम जैसे फुटकर पथ व्यवसायियों के लिये भी 10-10 हजार रूपये का ऋण देकर अपने छोटे-मोटे धंधों को खोलने का अवसर दिया है। धर्मवीर ने कहा कि 10-10 हजार रूपये की पूंजी लगाकर अपने व्यवसाय को और बेहतर कर सकता हूं। इससे मेरी इन्कम बढ़ेगी। पहाडगढ़ निवासी कल्याण सिंह ने कहा कि पथ विक्रेता योजना मे मिले 10 हजार रूपये में एक नया धंधा शुरू करके अपने परिवार का भरण-पोषण कर सकूंगा। पहाडगढ़ के ही धर्मेन्द्र मांझी ने कहा कि यह बहुत अच्छा अवसर है। सरकार हम जैसे फुटपाथ व्यवसायियों को आर्थिक मदद देकर हमें अपने व्यवसाय को बढ़ाने का मौका दे रही है।
    राधा, प्रियंका और कल्पना ने कहा कि कोरोना काल में लगे लॉकडाउन से हमारा धंधा सिंलाई, कढ़ाई का धंधा खत्म हो गया था। अब मुख्यमंत्री की पथ विक्रेता योजना में हमें 10-10 हजार रूपये का सहयोग मिलने से हम अपना व्यवसाय और अच्छी तरह से कर सकेंगे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण