डी.ए.पी.और यूरिया की कमी नहीं

डी.ए.पी.और यूरिया की कमी नहीं
संजय गुप्‍ता (मांडिल) मुरैना ब्‍यूरो चीफ मुरैना 8 अक्टूबर 08/ मुरैना जिले में डी.ए.पी. और यूरिया खाद की कोई कमी नहीं है। यूरिया का 4500 मे.टन का भंडार प्राथमिक सहकारी संस्थाओं के पास उपलब्घ है तथा दो रैक अर्थात 500 मे.टन खाद और आ चुका है । प्राथमिक सहकारी संस्थाओं को 2300 मे.टन डी.ए.पी खाद वितरण हेतु भेजा जा रहा है। वितरण होने के बाद आवश्यकता अनुसार और भी डी.ए.पी. खाद संस्थाओं को उपलब्ध कराया जायेगा । डी.ए.पी. खाद का एक रैक शीघ्र ही जिले को प्राप्त होने वाला है ।
कलेक्टर श्री रामकिंकर गुप्ता ने कृषकों से अपील की है कि वे कालावाजारी में खाद का क्रय नहीं करें । प्राथमिक संस्थाओं के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में खाद उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जा रही है । किसान इसका लाभ उठायें ।
कलेक्टर ने बताया कि खरीफ सीजन में 11,860 मै. टन डी.ए.पी.तथा 21,151 मे.टन यूरिया वितरित किया गया है । कृषकों को सरसों की बोनी के लिए 1 अक्टूबर से 07 अक्टूबर तक 1100 मे.टन डी.ए.पी. वितरित किया गया है । 7 अक्टूबर को 2300 मै.टन इफकों का डी.ए.पी.प्राप्त हुआ है । नवीन वितरण व्यवस्था के तहत यह सम्पूर्ण खाद प्राथमिक सहकारी संस्थाओं के माध्यम से कृषकों को वितरित किया जावेगा । प्राथमिक सहकारी संस्थाओं में नकद खाद वितरण की व्यवस्था बन्द कर दी गई है । केवल सोसायटी के सदस्यों को खाद वितरण किया जावेगा जो किसान सोसायटी के सदस्य नहीं है और उन्हें खाद की आवश्यकता है तो वे सोसायटी में जाकर सदस्यता का फार्म भरकर प्राथमिक सहकारी संस्था के सदस्य बन सकते हैं । इस हेतु सभी प्राथमिक सहकारी संस्थाओं को निर्देशित किया गया है कि वह सभी कृषकों को उनके आवेदन आने पर सदस्य बनाने के बाद उन्हें इसी सीजन में पात्रता अनुसार डी.ए.पी. यूरिया एवं अन्य खाद उपलब्ध करावें ।
मार्केटिंग सोसायटी तथा एम.पी.एग्रो के केन्द्रों से नकद विक्रय की व्यवस्था को भी समाप्त कर दिया गया है । अब सहकारी क्षेत्र में या इन संस्थाओं के माध्यम से कोई भी खाद नकद विक्रय के माध्यम से वितरित नहीं किया जावेगा जो कृषक केवल नकद राशि से ही खाद प्राप्त करना चाहते है वे स्थानीय अनुज्ञप्तिधारी व्यापारियों के माध्यम से खाद प्राप्त कर सकते है । इसके लिए हिन्डालको कम्पनी का खाद जो बलवान डीएपी के नाम से जाना जाता है, आगामी तीन दिनों में आने वाला है तथा उसका वितरण व्यापारियों के माध्यम से कराया जावेगा । जिससे नकद राशि से कृषकों को खाद उपलब्ध हो सकेगा ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण