तीव्र गति वाला रेल गलियारा

तीव्र गति वाला रेल गलियारा

राज्य सभा

                रेल राज्य मंत्री श्री आर. वेलु ने आज राज्य सभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया कि  2007-08 के बजट भाषण के दौरान यह घोषणा की गई थी कि रेल मंत्रालय तीव्र गति वाले यात्री रेल गलियारे के निर्माण के बारे में व्यावहार्यतापूर्व अध्ययन करायेगा। इस गलियारे में 300 से लेकर 350  कि.मी. प्रति घंटे की रपऊतार से रेलगाड़ियां दौड़ेंगी।  देश के उत्तरी, पश्चिमी, दक्षिणी और पूर्वी क्षेत्रों में ऐसा एक-एक गलियारा होगा।   यह गलियारा अत्याधुनिक सिगनल तथा ट्रेन नियंत्रण प्रणाली से सुसज्जित होगा।

                इस बारे में, भारतीय  रेल ने विभिन्न राज्य सरकारों से सम्पर्क साधा था, ताकि व्यवहार्यतापूर्व अध्ययन में उनकी सहभागिता  के बारे में उनकी राय  प्राप्त की जा सके। आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, हरियाणा, पंजाब, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल ने इस अध्ययन में शामिल होने की सैध्दान्तिक सहमति दे दी है।

                रेल मंत्रालय ने मुम्बई-अहमदाबाद और दिल्ली-अमृतसर तीव्र गति रेल गलियारे के लिए वित्तीय एवं आर्थिक विश्लेषण भी कराया है। यह प्रस्ताव अभी शुरूआती चरण में है। इसलिए इस स्कीम के क्रियान्वयन का सही समय बता पाना संभव नहीं है।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण