मध्यप्रदेश के राष्ट्रीय उद्यान तथा अभ्यारण्य के प्रवेश नियमों में संशोधन

मध्यप्रदेश के राष्ट्रीय उद्यान तथा अभ्यारण्य के प्रवेश नियमों में संशोधन

नई दरें एक जनवरी 2008 से लागू होगी

राज्य शासन द्वारा वन्यप्राणी (संरक्षण) नियम में संशोधन कर प्रदेश के राष्ट्रीय उद्यान एवं अभ्यारण्य में पर्यटकों के लिए प्रवेश एवं पर्यटन सुविधाओं के संबंध में लागू शुल्क की दरों में परिवर्तन किया जा रहा है। यह नई दरें एक जनवरी 2008 से लागू की जायेगी। इस वर्ष इन्टरनेट के माध्यम से अग्रिम आरक्षण करने की सुविधा भी प्रारंभ की जायेगी।

नए संशोधन में प्रतिव्यक्ति प्रवेश शुल्क के स्थान पर प्रतिवाहन प्रवेश शुल्क रखा गया है। हल्के मोटर वाहन जिसमें जीप, कार, जिप्सी आदि शामिल है, उनमें अधिकतम 8 व्यक्ति के लिए, देशी पर्यटकों के लिए 500 रूपये एवं विदेशी पर्यटकों के लिए 2000 रूपये प्रति राउंड का शुल्क रहेगा। यह दर सभी टाईगर रिजर्व में लागू होगी। टाईगर रिजर्व को छोड़कर अन्य राष्ट्रीय उद्यानों# अभ्यारण्यों में यही दर क्रमश: 400 रूपये एवं 1500 रूपये प्रति राउंड होगी। इसके साथ ही स्टील कैमरा एवं वीडियो कैमरा के लिए कोई शुल्क नहीं लगेगा।

प्रधान मुख्य वन संरक्षक वन्यप्राणी म.प्र. डा. पी.बी. गंगोपाध्याय ने बताया कि नई प्रवेश दर इस प्रकार निर्धारित की गई है कि एक वाहन में अधिक व्यक्ति पर्यटन का लाभ उठा सकेंगे जिससे एक ओर उन्हें परिवर्तित दर में कोई विशेष अधिकता नहीं लगेगी, दूसरी ओर राष्ट्रीय उद्यान में वाहनों का कम संख्या में प्रवेश होगा। पर्यटकों के द्वारा पर्यटन नियम एवं पार्क प्रबंधन द्वारा जारी किए गए निर्देशों के उल्लंघन की स्थिति में इस संशोधन के माध्यम से वन क्षेत्रपाल स्तर के अधिकारी द्वारा 500 रूपये तक का दण्ड वसूल करने का प्रावधान भी किया गया है।

उल्लेखनीय है कि बांधवगढ़, कान्हा, पेंच, इत्यादि प्रसिध्द राष्ट्रीय उद्यानों में पर्यटकों की बढ़ती संख्या के दबाव से वन्यप्राणी रहवास पर प्रतिकूल प्रभाव के संबंध में वन्यप्रेमियों और विशेषज्ञों ने चिन्ता जताई है। इस तथ्य को दृष्टिगत रखते हुए वन विभाग द्वारा राज्य के महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट टाईगर रिजर्व कान्हा, बांधवगढ़, पेंच, पन्ना एवं सतपुड़ा में पर्यटकों की धारण क्षमता का निर्धारण किया गया है। तदनुसार सभी पॉचों टाईगर रिजर्व में वाहनों की अधिकतम संख्या का निर्धारण कर दिया गया है। इस वर्ष बांधवगढ़ एवं कान्हा टाईगर रिजर्व में पर्यटन के लिए तीन जोन बनाये गये हैं जिसमें पर्यटकों की धारण क्षमता के अनुसार ही प्रत्येक जोन में पर्यटन की सुविधा उपलब्ध होगी। कान्हा में मुक्की एवं सरई नाका 3 जोन बनाये गये हैं। बांधवगढ़ में ताला, मगदी- कलवाह, खितौली 3 जोन बनाये गये हैं।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण