सभी त्यौहार आपसी भाईचारा एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनायें शान्ति समिति के सदस्यों की सभी से अपील

 संजय गुप्‍ता मांडिल, ब्‍यूरो मुरैना/

आने वाले सभी तीज त्यौहार आपसी भाईचारे के साथ सौहार्दपूर्ण वातावारण में मनाने की अपील जिला शांति समिति द्वारा की गई है। हाल ही में आयोजित शांति समिति की बैठक नवीन कलेक्ट्रेट कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने की।
    बैठक में समस्त समुदायों ने प्रतिष्ठित, वरिष्ठ नागरिक, पत्रकार एवं अधिकारी उपस्थित थे।
    बैठक में कलेक्टर श्री वर्मा ने जिला प्रशासन की ओर से सभी सदस्यों का स्वागत करते हुये कहा कि जिले में सभी त्यौहार आपसी सौहार्द के साथ मनाने की गौरवशाली परंपरा रही है। यही परंपरा अमल में रहना चाहिये।
    कलेक्टर ने सभी उपस्थित सदस्यों को कोविड 19 कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिये अनलॉक 5 के संबंध में शासन द्वारा जारी किये गये दिशा निर्देशों से अवगत कराया।
    कलेक्टर ने कहा कि चेहल्लुम त्यौहार एवं नवरात्रि पर स्थापित होने वाली मां दुर्गा की प्रतिमाओं एवं ताजियों की ऊंचाई के प्रतिबंध को समाप्त कर दी है। प्रतिमा एवं ताजिये के लिये पंडाल का आकार अधिकतम 30ग45 फीट निर्धारित किया गया है, जिसमें श्रद्धालुओं/दर्शकों के लिये सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा जिसकी पूर्ण जिम्मेदारी आयोजकों की होगी। प्रतिमाओं एवं ताजियों का विसर्जन 10 व्यक्तियों के साथ किया जा सकेगा जिसकी प्रशासन से अनुमति ली जाना अनिवार्य होगा। पंडाल के आसपास विसर्जन के लिये चल समारोह की अनुमति नहीं दी जायेगी और न ही चल समारोह का आयोजन किया जायेगा। साथ ही गरबा का आयोजन नहीं हो सकेगा। लाउड स्पीकर के संबंध में माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा। रामलीला तथा रावण दहन के कार्यक्रम खुले मैदान में फेस मास्क तथा सोशल डिसटेंसिंग की शर्त पर अनुमति उपरांत कर सकेंगे।
    बैठक में उपस्थित समस्त सदस्यगणों द्वारा एकराय होकर अवगत कराया गया कि कोविड 19 को दृष्टिगत रखते हुये शासन द्वारा निर्धारित दिशा निर्देशों का पालन सुनिश्चित किया जायेगा। विसर्जन के दौरान आयोजक समिति द्वारा 10 व्यक्तियों को ही रखा जायेगा जिनके पृथक से पहचान पत्र समिति द्वारा तैयार किये जायेंगे।
    सुझावों के क्रम में उपस्थित अधिकारियों से चर्चा उपरांत कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश देते हुये कहा कि कोविड 19 के दौरान शासन/जिला प्रशासन द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन करना अनिवार्य किया जाये।    चल समारोह/जुलूस नहीं निकाला जायेगा तथा गश्त नहीं किया जायेगा, इसकी पूर्ण जिम्मेदारी आयोजक समिति की होगी। विसर्जन के दौरान 10 व्यक्तियों की ही अनुमति होगी जिनके पहचान पत्र आयोजक समिति द्वारा तैयार किये जायेंगे। रूट का निर्धारण किया जाये तथा इसकी संपूर्ण जानकारी एसडीएम मुरैना को आयोजक समिति प्रस्तुत करेगी। बिना अनुमति कोई कार्यक्रम नहीं किया जायेगा।
    बैठक के अंत में कलेक्टर द्वारा आगामी त्यौहारों पर शांति, सदभावना व सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाये रखने तथा कोविड 19 के बचाव को दृष्टिगत रखते हुये शासन/प्रशासन द्वारा जारी दिशा निर्देशें का पालन सुनिश्चित करने हेतु अपील की गई। इसके साथ ही आगामी त्यौहारों पर समस्त आवश्यक व्यवस्थायें करने हेतु आश्वस्त किया जाकर सभी का अभार व्यक्त करते हुये बैठक का समापन किया गया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण