मतदान कर्मी प्रशिक्षण प्राप्त करने में कोताई न बरतें पीठीसीन अधिकारियों एवं पी-1 मतदान कर्मीयों का प्रथम प्रशिक्षण आज से प्रारंभ, प्रशिक्षण से अनुपस्थित रहने वालों को निलम्बित किया जायेगा

 संजय गुप्‍ता मांडिल, ब्‍यूरो मुरैना/

विधानसभा उप निर्वाचन 2020 को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं पारदर्शी सम्पन्न कराने के लिए जिले में तैनात पीठासीन एवं पी-1 मतदान कर्मियों का 6 दिवसीय प्रशिक्षण 11 अक्टूबर 2020 तक पोलोटेक्निक कॉलेज मुरैना में आज से प्रारंभ हुआ । यह प्रशिक्षण मंगलवार से दो पालियों में सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक और अपरान्ह 2 बजे से सायं 5 बजे तक दिया जायेगा। प्रशिक्षण में भाग नहीं लेने वाले (अनुपस्थित) अधिकारी कर्मचारी को सीधे निलम्बित की कार्रवाई की जायेगी । ये निर्देश कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अनुराग वर्मा ने चुनाव कार्य का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे पीठासीन एवं पी-1 अधिकारियों को दिये।  
    प्रशिक्षण कराने की जिम्मेदारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री तरूण भटनागर की रहेगी। जिसमें उन्होंने बताया कि 6 अक्टूबर को प्रथम पाली में 705, द्वितीय पाली में 697, 7 अक्टूबर को प्रथम पाली में 797, द्वितीय पाली में 700, 8 अक्टूबर को प्रथम पाली में 698, द्वितीय पाली में 702, 9 अक्टूबर को प्रथम पाली में 702, द्वितीय पाली में 698, 10 अक्टूबर को प्रथम पाली में 697, द्वितीय पाली में 704 और 11 अक्टूबर को प्रथम पाली में 421 पीओ और पी-1 को प्रशिक्षण दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि जिले में पांचों विधानसभा क्षेत्र के 7 हजार 421 पीओ और पी-1 अधिकारी लगाये जायेंगे। जिला सीईओ ने बताया कि पॉलीटेक्निक कॉलेज में कुल 17 रूमों में प्रशिक्षण की व्यवस्था की गई है।
    उन्होंने ने कहा कि चुनाव कार्य में गल्ती क्षम्य नहीं होगी, समस्त पीठासीन अधिकारी, पी-1 प्रशिक्षण को एकचित होकर गंभीरता से प्राप्त करें। उन्होने कहा कि चुनाव कार्य में पीठासीन अधिकारी और पी-1 7 हजार 421 कर्मचारी लगाये जायेगे।
    राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स श्री ब्यौमेश शर्मा, परियोजना अधिकारी श्री तिलक सिंह कुशवाह द्वारा राज्य निर्वाचन आयोग के निर्धारित बिन्दुओं पर प्रशिक्षण दिया जिसमें ईव्हीएम, व्ही.व्ही.पैट सहित अन्य पीठासीन अधिकारी एवं पी-1 के महत्वपूर्ण कार्यो को समझाया गया। जिला सीईओ ने बताया कि उप निर्वाचन 2020 संपन्न कराने के लिये ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपैट मशीनों में छोटी से छोटी बारीकियों को समझें, समझ में नहीं आये तो 10 बार पूछे। पूछने में कोई हर्ज नहीं है, किन्तु चुनाव के दौरान गलती हुई तो क्षम्य नहीं होगी। उप निर्वाचन 2020 स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण तथा पारदर्शी होना हम सभका नेतिक दायित्व है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण