कोविड -19 - पहनें मास्क - धोते रहें हाथ - रखें दो गज की दूरी अनुकूल व्यवहार परिवर्तन सघन अभियान 30 नवम्बर तक

संजय गुप्‍ता मांडिल, ब्‍यूरो मुरैना/

कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के बीच आर्थिक गतिविधियाँ आरंभ की गई हैं। ऐसे में व्यवहार परिवर्तन की आवश्यकता को देखते हुए प्रदेश में विभिन्न विभागों के सहयोग से कोविड-19 अनुकूल व्यवहार परिवर्तन सघन अभियान 30 नवम्बर 2020 तक संचालित होगा। अभियान की थीम सावधानी में ही सुरक्षा है, और पंच लाइन कोरोना से बचने के लिए है जरूरी, मास्क पहनें, धोते रहे हाथ, रखें दो गज की दूरी ... इस अभियान को सफल बनाने में सभी से सहयोग की अपेक्षा की गई है।
    संचालक राज्य स्वास्थ्य सूचना शिक्षा संचार ब्यूरो मध्यप्रदेश ने सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों से कहा है कि कोविड-19 संक्रमण के प्रकरण लगातार पाये जा रहे है। कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के बीच आर्थिक गतिविधियाँ आरंभ की गई है। त्यौहार इत्यादि आने के कारण लोगों में मिलना-जुलना और एकत्रित होना आरंभ हो गया है। शीत ऋतु भी आने को है जिसके कारण वातावरण का तापमान कम हो जाता है और वह वायरस प्रसार के लिए उपयुक्त होता है। ऐसे में व्यवहार परिवर्तन की आवश्यकता को देखते हुए प्रदेश में विभिन्न विभागों के सहयोग से 7 अक्टूबर से 30 नवम्बर 2020 तक प्रदेश में कोविड-19 अनुकूल व्यवहार परिवर्तन सघन अभियान चलाया जाए। जिला स्तर पर इस अभियान के समन्वयक जिला कलेक्टर होंगे। जिला स्तर पर कार्यरत विभिन्न विभागों के प्रमुख अपने-अपने विभाग के लिए नोडल अधिकारी होंगे। कलेक्टर के मार्ग दर्शन एवं समन्वय से कोविड-19 अनुकूल व्यवहार परिवर्तन सघन अभियान की गतिविधियों को संचालित करेंगे। जिला स्तर पर सफलतापूर्वक अभियान संचालित करने हेतु डीएचओ-1 एवं विकासखण्ड स्तर पर खण्ड चिकित्सा अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाया गया है। नोडल अधिकारी जिला कलेक्टर के मार्गदर्शन में विभिन्न विभागों के सहयोग एवं समन्वय से कोविड-19 अनुकूल व्यवहार परिवर्तन सघन अभियान अंतर्गत कोविड-19 संक्रमण के लक्षण एवं बचाव की रोकथाम के प्रचार-प्रसार की कार्य योजना बनाकर क्रियान्वित करवाया जाना सुनिश्चित करेंगे। सोशल मीडिया का अधिक से अधिक उपयोग प्रमुखता से किया जाएगा।  

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण