चुनाव कार्य में गलती नहीं हो, गलती से बचने के लिये आयोग के नियमों का पढ़ना ही रामबाण है- जिला निर्वाचन अधिकारी चुनाव में सौंपे गये दायित्वों का पूरी मुस्तैदी के साथ पालन हो

 संजय गुप्‍ता मांडिल, ब्‍यूरो मुरैना/     कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अनुराग वर्मा ने चुनाव कार्य में लगे नोडल अधिकारियों को स्पष्ट रूप से निर्देश दिये कि आचार संहिता लग चुकी है। मतदान 3 नवंबर को होगा एवं मतगणना 10 नवंबर को संपन्न होगी। चुनाव कार्य में गलती नहीं हो, गलती से बचने के लिये नोडल अधिकारियों को आयोग के नवीन निर्देशों को पढ़ना होगा वहीं आपके लिये रामबाण होगा। ये निर्देश उन्होंने मंगलवार को नवीन कलेक्ट्रेट सभागार में चुनाव से जुड़े नोडल अधिकारियों को दिये। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री तरूण भटनागर, अपर कलेक्टर श्री उमेश प्रकाश शुक्ला, संयुक्त कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री एल के पाण्डे, आयुक्त नगर निगम श्री अमर सत्य गुप्ता, विधानसभा क्षेत्र जौरा, सुमावली, मुरैना, दिमनी और अंबाह विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफीसर सहित उपनिर्वाचन 2020 के लिये चुनाव कार्य के सौंपे गये दायित्वों के नोडल अधिकारी उपस्थित थे।
    कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अनुराग वर्मा ने कहा कि आचार संहिता लगने के तुरंत बाद 24 घंटे के अंदर संपत्ति विरूपण अधिनियम के तहत पोस्टर बैनर शीघ्र हटाये जायें, शहर एवं ग्रामीण क्षेत्र में कई लोकार्पण एवं भूमि पूजन के शिला पटटिकायें लगी होंगी उन्हें ढकने का कार्य किया जाये। इस कार्य के लिये आयुक्त नगर निगम, सीएमओ तथा जनपद सीएमओ अपने अपने क्षेत्रों में प्राथमिकता से करें। कलेक्टर ने कहा कि ईव्हीएम स्टोर प्रभारी यह सुनिश्चित करें कि चुनाव कार्य के लिये विधानसभावार ईवीएम एवं वीवीपैट तैयार कर स्ट्रॉग रूम में रख दी गई हैं। इसके अलावा किसी अन्य स्थान पर ईवीएम एवं वीवीपैट दिखना नहीं चाहिये। जिन स्टोर में अन्य मशीनें रखी गई हैं वहां चुनाव नियमों के तहत बंद कर दिये जायें। उन्होंने कहा कि चुनाव की हर गतिविधियों पर आयोग की निगाह रहेगी। इसके लिये जो अधिकारी चुनाव कार्य के दायित्व सौंपे गये हैं वे नियमों के तहत उन्हें पढ़ें और उन पर कार्य करें। उन्होंने कहा कि चुनाव कार्य में ईवीएम मतदान केन्द्रों के अलावा रिजर्व ईवीएम सेक्टर ऑफीसरों को प्रदान की जाती है। वो ईवीएम भी मतदान समाप्ति के बाद तत्काल स्टॉक रूम में अलग से कक्ष में रखी जायेंगी।
    कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने समस्त नोडल अधिकारियों को निर्देश दिये कि कोविड के नॉर्म्स के अनुरूप पोलिंग पार्टियों के रवाना करने के लिये विधानसभावार प्लान आरटीओ को उपलब्ध करायें। पिछले चुनावों की अपेक्षा पर्टियों को रवाना करने के लिये अतिरिक्त पांच प्रतिशत वाहन बढ़ाने होंगे। उन्होंने जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को निर्देश दिये कि पोलिंग पार्टियों पर प्रशिक्षण की तिथी निर्धारित कर प्रशिक्षण दिलाना प्रारंभ किया जाये। इसके साथ ही स्वीप की गतिविधियां भी प्रारंभ की जायें। बैठक में सुमावली रिटर्निंग ऑफीसर को निर्देश दिये कि चुनाव आयोग के पोर्टल पर जानकारी अपडेट करें जिसमें अभी तक बाउंड ओवर जैसी कार्यवाहियों को भी सूचित करें। उन्होंने कहा कि 107, 116 की कार्यवाही में रिटर्निंग ऑफीसर हिचकिचाहट न करें। उन्होंने कहा कि अपने अपने क्षेत्रों में क्रिटिकल एवं वलनरेबल मतदान केन्द्र चिन्हित कर भ्रमण करें। इसके साथ ही प्रत्येक मतदान केन्द्र पर विद्युत, रैम्प, विभिन्न मोबाइल कंपनियों के नेटवर्क रहें यह भी पत्रक में लिखें कि किस मतदान केन्द्र पर किस कंपनी का नेटवर्क है।
    कलेक्टर ने कहा कि मतदान केन्द्रों पर पीडब्लयूडी वोटर कितने हैं उनके लिये व्हीलचेयर उपलब्ध रहे इसकी जानकारी 3 दिवस के अंदर अपडेट होकर बतायें। उन्होंने कहा कि इस बार कोविड को ध्यान में रखते हुये 80 प्लस वोटर को मतदान की सुविधा घर पर दी जायेगी इसके लिये संख्या अपडेट करें। उन्होंने पीडब्ल्यूडी वोटर, मतदान करने की जानकारी भी तैयार करने के निर्देश दिये। 
    कलेक्टर ने कहा कि समस्त रिटर्निंग ऑफीसर यह लिखकर सूचित करें कि उनके कितने मतदान केन्द्र रोड के संपर्क में नहीं हैं और ऐसे कितने मतदान केन्द्र हैं जो सहायक मतदान केन्द्र बनाये हैं। सहायक मतदान केन्द्रों पर मतदान के समय आवश्यक सुविधायें उपलब्ध रहें इसको भी सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि इस बार मतदान सुबह 7 से सांय 6 बजे तक संपन्न होगा। 6 बजे तक मतदान होने से सूर्यास्त होने के बाद मतदान केन्द्र पर अंधेरा होगा। मतदान केन्द्र के अंदर एवं बाहर भी प्रकाश की व्यवस्था रहे। ऐसे कितने मतदान केन्द्र हैं जहां मतदान केन्द्रों पर कनेक्शन नहीं है वहां कितनी दूरी से लाइट लाई जानी है उसका प्रबंध करें। कलेक्टर ने कहा कि प्रत्येक मतदान केन्द्र पर पेट्रोमैक्स रहे जिससे लाइट जाने पर पैट्रोमैक्स का प्रयोग किया जा सके। प्रत्येक मतदान केन्द्र पर एक एक टेंट एवं 20-20 कुर्सियां उपलब्ध रहें जिससे व्यक्ति लाइन में लगते हुये कुर्सियों पर बैठ सके। इस अवसर पर उन्होंने कम्यूनिकेशन प्लान, पेड न्यूज, वेव कास्टिंग, सीसी कैमरे की जानकारी तैयार करने के निर्देश दिये।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण