6 हजार 284 आंगनवाड़ी केन्द्रों से 4 लाख 55 हजार 238 बच्चे, गर्भवती महिलायें और धात्री माताओं को पोषण आहार से लाभान्वित

संजय गुप्‍ता मांडिल,मुरैना/  चंबल संभाग में संचालित 27 एकीकृत बाल विकास परियोजनाओं के अंतर्गत स्थापित 6 हजार 284 आंगनवाड़ी केन्द्रों से 4 लाख 55 हजार 238 बच्चों, गर्भवती महिलाओं और धात्री माताओं को पूरक पोषण आहार वितरण कर लाभान्वित किया गया है।    
    लाभान्वित बच्चों में 6 माह से 3 वर्ष तक की आयु के 1 लाख 88 हजार 755 बच्चे, 3 वर्ष से 6 वर्ष की आयु के 1 लाख 90 हजार 688 बच्चे, 38 हजार 210 गर्भवती महिलायें और 37 हजार 585 धात्री महिलायें है।
    चंबल संभाग के कमिश्नर श्री आरके मिश्रा द्वारा पिछले दिनों महिला बाल विकास विभाग की संभागीय समीक्षा बैठक के दौरान यह जानकारी दी गई।
    बैठक में समीक्षा के दौरान बताया गया कि मुरैना जिले में संचालित 11 परियोजनाओं में स्थापित 2 हजार 607 आंगनवाड़ी केन्द्रों से 6 माह से 3 वर्ष के 91 हजार 91 हजार 788 बच्चे, 3 वर्ष से 6 वर्ष के 88 हजार 769 बच्चे, 19 हजार 220 गर्भवती महिलाओं और 19 हजार 652 धात्री महिलाओं को पूरक पोषण आहार देकर लाभान्वित किया गया है। इसी तरह भिण्ड जिले में संचालित 10 परियोजनाओं में स्थापित 2 हजार 451 आंगनवाड़ी केन्द्रों से 6 माह से 3 वर्ष के 66 हजार 229 बच्चे, 3 वर्ष से 6 वर्ष के 62 हजार 707 बच्चे, 13 हजार 86 गर्भवती महिलायें और 12 हजार धात्री मातायें लाभान्वित हो रही है। श्योपुर जिले में संचालित 6 परियोजनाओं में स्थापित 1 हजार 226 आंगनवाडि़यों से 6 माह से 3 वर्ष के 30 हजार 738 बच्चे, 3 वर्ष से 6 वर्ष के 39 हजार 212 बच्चे, 5 हजार 904 गभवती महिलायें और 5 हजार 458 धात्री महिलायें पूरक पोषण आहार से लाभान्वित हुई है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण