करोंद खुर्द में सक्रिय असमाजिक तत्वों पर सख्त कार्यवाही करें - श्री गौर

करोंद खुर्द में सक्रिय असमाजिक तत्वों पर सख्त कार्यवाही करें - श्री गौर
बरसते पानी में भी जनता दरबार में पहुंचे लोग
वाणिज्यिक कर मंत्री श्री बाबूलाल गौर ने आज अपने निवास पर जनता दरबार में गुनगा थाना क्षेत्र के करोंद खुर्द से आये गरीब आदिवासी एवं अनुसूचित जाति के ग्रामीणों की व्यथा सुनने के बाद पुलिस को निर्देश दिये कि वहां गरीबों को परेशान करने वाले असमाजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करें। इन ग्रामीणों ने बताया कि असमाजिक तत्व उन्हें अपने मकान एवं जमीन से बेदखल करने के लिए मारपीट करते रहते हैं।
श्री गौर के निवास पर आज आयोजित जनता दरबार में बारिश के बावजूद भी बड़ी संख्या में गांव और शहर के लोग अपनी सार्वजनिक समस्याओं के साथ पहुंचे। जनता दरबार में कलेक्टर श्री मनीष रस्तोगी के अलावा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, बी.डी.ए., सी.पी.ए., नगर निगम तथा पार्षद श्री केवल मिश्रा, किशन ग्वाला, नारायण सिंह पाल, सुश्री तुलसावर्मा, सुश्री सुषमा साहू तथा स्थानीय नेता और महिला नेत्री श्रीमती कृष्णा गौर तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे। नागरिकों की समस्याओं की सुनवाई सिलसिले वार कर मौके पर ही उनका निराकरण किया गया। मिसरोद क्षेत्र स्थित निर्मल स्टेट कालोनी से रहवासी महिलाओं ने बताया कि स्थानीय समिति में विवाद की वजह से उनकी बस्ती में जुलाई से लाइट कटी पड़ी है जिससे पेयजल और रोशनी की समस्या बनी हुई है। इस सम्बन्ध में निष्क्रिय रहवासी समिति एस.डी.एम. के निर्देशों की भी अवहेलना कर रही हैं।
बेरखेड़ी खुर्द से आये ग्रामीणों ने बताया कि क्षेत्रीय एक दबंग व्यक्ति ने सरकारी भूमि पर अतिक्रमण कर लिया है जिससे ग्रामीणों के निस्तार की समस्या बनी हुई है। श्री गौर ने कलेक्टर से इस दिशा में तत्काल सख्त कार्यवाही करने को कहा। रातीबड़ की सरपंच श्रीमती शाइना बी ने भी क्षेत्र की समस्याओं की तरफ अधिकारियों का ध्यान आकर्षित किया। बैठक में इन्द्रपुरी ए सेक्टर, शक्ति नगर, साकेत नगर, पुष्प नगर आदि शहरी बस्तियों के रहवासियों ने अपनी समस्या को जनता दरबार में रखा। जिनके समाधान के लिए श्री गौर ने नगर निगम के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। पार्षद केवल मिश्रा ने बाग सेवनिया क्षेत्र में मंगलवार को खेलते समय कुए में गिर कर मृत अनिकेत (11 वर्ष) एवं राजकुमार (15 वर्ष) के परिजनों को मदद की मांग की। श्री गौर ने कलेक्टर को घटना की जांच कराकर मृतकों के परिजनों को आपदा निधि से सहायता राशि दिलाये जाने के निर्देश दिये।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण