इंदौर में 2 करोड़ रुपये की लागत से बनेगा बहुउद्देशीय कला केन्द्र

इंदौर में 2 करोड़ रुपये की लागत से बनेगा बहुउद्देशीय कला केन्द्र

रेसीडेंसी में बनेगा शहीदों का स्मारक और संग्रहालय

जनसम्पर्क, खनिज एवं संस्कृति मंत्री श्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने कहा है कि इंदौर में करीब 2 करोड़ रुपये की लागत से लालबाग के समीप बहुउद्देशीय कला केन्द्र बनाया जायेगा। इंदौर की रेसीडेंसी कोठी के एक भाग में 1857 की क्रांति के शहीदों का स्मारक और संग्रहालय बनाया जायेगा। मंत्री श्री शर्मा आज यहाँ लोक संस्कृति मंच द्वारा आयोजित कार्यक्रम में संबोधित कर रहे थे।

संस्कृति मंत्री श्री शर्मा ने आगे कहा कि प्रदेश की संस्कृति नीति जल्दी ही लायी जायेगी। इस नीति को तैयार करने के लिये राज्य स्तरीय समिति गठित की गयी है। प्रदेश में संगीत और ललित कला का विश्वविद्यालय ग्वालियर में स्थापित होगा। सभी शासकीय संगीत महाविद्यालय अब संस्कृति विभाग के अंतर्गत है तथा इन महाविद्यालयों की आवश्यकताओं की पूर्ति की जा रही है। संस्कृति मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश में कला एवं संस्कृति को संरक्षण दिया जा रहा है। संस्कृति विभाग द्वारा दिये जाने वाले राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय सम्मानों के तहत दी जाने वाली सम्मान निधि को अगले वर्ष से दोगुना कर दिया गया है। शिखर सम्मानों की संख्या अब तीन से बढ़ाकर ग्यारह की जा रही है। अभावग्रस्त वरिष्ठ कलाकारों को दिये जाने वाले मासिक मानदेय को सात सौ रुपये से बढ़ाकर चौदह सौ रुपये कर दिया गया है। भारतीय स्वतंत्रता के इतिहास को संकलित करने के लिये पचास फैलोशिप दी जायेगी। ग्रामीण कलाकारों की प्रतिभाओं को अवसर प्रदान करने के लिये विकासखंड, जिला और राज्य स्तर पर लोक उत्सव आयोजित किये जायेंगे।

आरंभ में स्वागत भाषण देते हुये लोक संस्कृति मंच के अध्यक्ष एवं नगर निगम सभापति श्री शंकर ललवानी ने कहा कि इंदौर में संस्कृति विभाग द्वारा राज्य स्तरीय आयोजनों की संख्या बढ़ायी जाये। संचालक संस्कृति श्री पवन श्रीवास्तव ने कहा कि संस्कृति नीति में सभी विधाओं से जुड़े कलाकारों के सुझाव शामिल किये जायेंगे। वरिष्ठ कवि श्री सरोजकुमार जैन ने कहा कि सांस्कृतिक गतिविधियों के लिये वातावरण निर्मित किया जाये। वरिष्ठ संगीतज्ञ श्री बापूराव अग्निहोत्री ने कहा कि इंदौर में सांस्कृतिक विश्वविद्यालय स्थापित किया जाये। वरिष्ठ चित्रकार श्री श्रेणिक जैन ने कहा कि अस्सी वर्ष पुराने ललित कला संस्थान की स्थिति में सुधार किया जाये। प्रसिध्द रंगकर्मी श्री सुशील जौहरी ने सुझाव दिया कि इंदौर में साप्ताहिक कला मंच शुरू किया जाये। वरिष्ठ कथक गुरू डॉ.पुरू दाधिच ने कहा कि संस्कृति विभाग द्वारा प्रदेश के कलाकारों की सूची तैयार की जाये। कार्यक्रम में संस्कृति मंत्री श्री शर्मा का सम्मान किया गया।

आभार प्रदर्शन श्रीमती मुद्रा शास्त्री ने किया।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण