बौध्द स्थल

बौध्द स्थल

पर्यटन तथा संस्कृति मंत्री, श्रीमती अंबिका सोनी ने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में लोक सभा को बताया कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के नियंत्रण में उड़ीसा के जयपुर जिले में ललित गिरि, उदय गिरि और रत्ना गिरि  स्थित संरक्षित स्मारकोंस्थलों का संरक्षण, अनुरक्षण और पर्यावरण विकास के द्वारा पर्याप्त ध्यान रखा जा रहा है ।     

       उन्होंने कहा कि पिछले तीन सालों के दौरान इन स्थलों पर आने वाले पर्यटकों की संख्या 2004-05, 2005-06 और 2006-07 में क्रमश: 15820, 18461 और 20703 थी ।

       पर्यटन मंत्रालय ने बौध्द स्थलों पर पर्यटन को बढावा देने के लिए सूचना तथा संवर्ध्दन अभियान चलाए हैं । पर्यटन मंत्रालय के विदेशों में स्थित कार्यालय भारत को बौध्द स्थलों को सक्रिय रूप से बढावा दे रहे हैं । विदेशों खासकर दक्षिण पूर्वी एशियाई क्षेत्रों के बाजारों में समन्वित प्रोत्साहन अभियान चलाए गए हैं । इनका मुख्य विषय बौध्द धर्म है । देश में भगवान बुध्द के महापरिनिर्वाण के 2550 वर्ष पर एक अभियान चलाया गया है । पर्यटन मंत्रालय अपनी अतुल्य भारत वेबसाईट के जरिए उड़ीसा में बौध्द स्थलों के बारे में विशेष जानकारी उपलब्ध करा रहा है । इनमें ललित गिरि, उदय गिरि और रत्ना गिरि  भी शामिल हैं । पर्यटन मंत्रालय ने बौध्द स्थलों पर पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए विशेष सूचना पत्रक और पुस्तिकाएं प्रकाशित की हैं ।

       पर्यटन मंत्रालय विभिन्न पर्यटक स्थलों और बौध्द स्थलों के लिए सड़क, रेल और हवाई संपर्क बेहतर बनाने के लिए सड़क परिवहन, रेल तथा नागर विमानन मंत्रालयों के साथ मामले को उठाता रहा है ।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण