गणतंत्र दिवस समारोह हर्षोल्लास के साथ सम्पन्न

गणतंत्र दिवस समारोह हर्षोल्लास के साथ सम्पन्न
गृह राज्य मंत्री श्री कुशवाह ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया
संजय गुप्‍ता(मांडिल) मुरैना ब्‍यूरो चीफ मुरैना 26 जनवरी 2009// 60 वां गणतंत्र दिवस मुरैना जिले में गरिमापूर्ण ढंग से हर्षोल्लास के साथ मनाया गया । पुलिस परेड ग्राउण्ड पर आयोजित मुख्य समारोह में परिवहन, जेल एवं गृह राज्य मंत्री श्री नारायण सिंह कुशवाह ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया और संयुक्त परेड की सलामी ली । समारोह के मुख्य अतिथि श्री कुशवाह ने पुलिस परेड ग्राउण्ड पर प्रात: 9 बजे ध्वजारोहण किया तथा खुली जिप्सी में कलेक्टर श्री एम.के. अग्रवाल और पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह के साथ परेड का निरीक्षण किया । श्री नारायण सिंह कुशवाह ने मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन करते हुए बताया कि अगले पांच सालों में 5800 मेगावाट की अतिरिक्त विद्युत क्षमता सृजित करने की योजना है । पिछले पांच साल में 40 हजार किलो मीटर लम्बाई की सड़कें बनाई गई । मुख्यमंत्री सड़क योजना के जरिये कम आवादी वाले गांव भी सड़क से जुड़ेंगे । आने वाले समय में 10 लाख हेक्टेयर से अधिक में अतिरिक्त सिंचाई क्षमता निर्मित की जायेगी । खेती के लिए बिजली के प्रयास पर सरकार ने 4600 करोड़ रूपये की सब्सिडी दी है । राष्ट्रीय ग्रामीणरोजगार गारंटी योजना के अंतर्गत डेढ़ लाख कार्यकराये जा चुके हैं और 2 लाख 66 हजार कार्य प्रगतिरत हैं ।
श्री कुशवाह ने शांति के प्रतीक श्वेत कबूतर तथा रंग बिरंगे गुब्बारे खुले आकाश में छोड़े । पुलिस बैंण्ड की मधुर धुन के मध्य हर्ष फायर किये गये और परेड ने राष्ट्रपति जी की जय के नारे लगाये ।
इसके पश्चात परेड कमांडर श्री मानवेन्द्र सिंह राजावत के नेतृत्व में एस.ए.एफ., पुलिस बल और होमगार्ड के जवानों, सीनियर और जूनियर एन.सी.सी.के कैडेट, स्काउट, गाइड और रेडक्रास, अभ्युदय आश्रम, रेड क्रॉस बालिका, रेन्जर बालिका, सेन्ट्रल स्कूल के बच्चों द्वारा आकर्षक मार्च पास्ट किया गया । मुख्य अतिथि ने परेड कमांडरों से परिचय प्राप्त किया । परेड में एस.ए.एफ.के दल ने अपने वर्ग में प्रथम, एनसीसी सीनियर ने अपने वर्ग में प्रथम तथा रेन्जर बालिका और गाइड बालिका ने अपने वर्ग में क्रमश: प्रथम व द्वितीय स्थान पाया । श्री नारायण सिंह कुशवाह ने स्वंतत्रता संग्राम सैनानियों और मीसाबंदियों को शॉल व श्रीफल भेंटकर सम्मानित किया ।
समारोह में सर्वशिक्षा अभियान, उद्योग, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी , स्वास्थ्य , जिला पंचायत, पशु पालन, उद्यानिकी, महिला एवं बाल विकास, आदिम जाति कल्याण, कृषि विकास एवं कृषक कल्याण, वन विभाग द्वारा विकास झांकियां निकाली गई । मैदान पर निकाली गई झांकी में सर्व शिक्षा अभियान ने प्रथम, कृषि विकास एवं कृषक कल्याण विभाग ने द्वितीय तथा महिला एवंबाल विकास की झांकी ने तृतीय स्थान प्राप्त किया । गणतंत्र दिवस पर आयोजित समारोह में विभिन्न विद्यालयों के छात्र छात्राओं द्वारा सामूहिक व्यायाम और करांटे का प्रदर्शन किया गया । इसके उपरांत, विक्टर कान्वेन्ट हा.से.स्कूल , कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल क्रमांक 2, जे.एस.हायर सेकण्डरी स्कूल, तूलिका कान्वेन्ट हायर सेकेण्डरी स्कूल, शास.महारानी लक्ष्मी बाई उ.मा.विद्यालय क्रमांक 1 सरस्वती शिशु मंदिर, अभ्युदय आश्रम और उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, के छात्र- छात्राओं द्वारा मनोहारी रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये । रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों में तूलिका कान्वेन्ट हायर सेकेण्डरी स्कूल ने प्रथम, अभ्युदय आश्रम ने द्वितीय तथा सरस्वती शिशु मंदिर ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।
श्री कुशवाह ने परेड, झांकी प्रदर्शन और सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति के साथ ही विभिन्न विभागों के उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों को भी पुरस्कृत किया । मुरैना जनपद की ग्राम पंचायत जतवार का पुरा और सबलगढ़ जनपद की ग्राम पंचायत सालई को समग्र स्वच्छता अभियान के तहत निर्मल ग्राम का पुरस्कार प्रदाय किया गया । कार्यक्रम का संचालन श्री देवेन्द्र तोमर और डा. रीता मदान ने किया । इस अवसर पर सांसद श्री अशोक अर्गल, एम.पी.एग्रो के अध्यक्ष श्री मुंशीलाल, विधायक सर्वश्री शिवमंगल सिंह तोमर, कमलेश सुमन और श्री परसुराम मुदगल, संभागायुक्त श्री एस.डी.अग्रवाल, समाज सेवी श्री नागेन्द्र तिवारी, स्वतंत्रता संग्राम सैनानी , मीसाबंदी तथा शहीदों की विधवायें और गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
मुख्य समारोह से पहले कलेक्टर श्री एम.के. अग्रवाल द्वारा कलेक्टर कार्यालय में तथा जन संपर्क कार्यालय सहित विभिन्न कार्यालयों में कार्यालय प्रमुखों द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण