मर्ग जांच के बाद सड़क दुर्घटना का अपराध दर्ज

मर्ग जांच के बाद सड़क दुर्घटना का अपराध दर्ज
निरार थाने में अस्पताल के सामने मरे मिले युवक की मौत पर मर्ग कायम
मुरैना, 15 दिसम्बर। देहात थाना पुलिस ने सड़क दुर्घटना में घायल हुए युवक की मौत के बाद आरोपी वाहन चालक के खिलाफ फरियादी और विवेचना अधिकारी आरपी खरे की जांच रिपोर्ट पर से तिलकसिंह पुत्र विजय बघेल आयु 36 साल निवासी पिपरसा की मौत पर धारा 279, 337, 304 ए आईपीसी के तहत अपराध कायम किया है। पुलिस सूत्रों ने बताया है कि महिन्द्रा जीप क्रमांक यूपी-75-एच-5445 के आरोपी चालक ने अपने वाहन को तेजी व लापरवाही से चलाते हुए तिलक सिंह में घटनास्थल एबी रोड पर टक्कर मार दी थी। टक्कर इतनी तेज थी कि तिलकसिंह गंभीर रूप से घायल हो गया था और उपचार के लिए उसे ग्वालियर दाखिल कराया गया था। यहां दौराने उपचार उसकी मौत हो गई थी तथा पुलिस ने मर्ग कायम कर प्रकरण को विवेचना में लिया था। जांच अधिकारी श्री खरे ने विवेचना में वाहन में चालक को दोषी पाया तथा उसके विरुध्द अपराध कायम कराया। पुलिस ने वाहन के आरोपी चालक की तलाश शुरू कर दी है।
इधर निरार थाना पुलिस ने अस्पताल के सामने मृत मिले जगदीश पुत्र नबाव गूजर आयु 25 साल निवासी निरार की मौत पर मर्ग कायम कर प्रकरण को विवेचना में लिया है। पुलिस ने बताया है कि जगदीश गूजर की लाश अस्पताल के सामने पड़ी हुई थी। प्राप्त सूचना पर से मौके पर पहुंची पुलिस ने न सिर्फ शव का पोस्टमार्टम कराया बल्कि मर्ग कायम कर प्रकरण की पड़ताल भी शुरू कर दी। जगदीश गूजर की मौत कैसे हुई, इस तथ्य का खुलासा तो शवविच्छेदन रिपोर्ट आने के बाद ही हो पाएगा फिलवक्त पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। जगदीश अस्पताल के समीप तक कैसे पहुंचा और किन परिस्थतियों में उसकी मौत हुई, पुलिस इस तथ्य की जानकारी के लिए मामले की जांच कर रही है। घटना दो दिसम्बर की बताई गई है। इस युवक की मौत बीमारी से हुई है अथवा वह किसी षड़यंत्र का शिकार हुआ है, इस बिन्दु पर भी पुलिस खास ध्यान दे रही हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण