हत्या से आक्रोशित गुर्जरों ने कलेक्टर बंगला घेरा

हत्या से आक्रोशित गुर्जरों ने कलेक्टर बंगला घेरा
ट्रेक्टर अड़ा कर एमएस रोड जाम की, टीआई के आश्वासन पर खुल गया मार्ग, जमीनी रंजिश का परिणाम हैं रामवीर की हत्या, अब तक हो चुके हैं पांच मर्डर
मुरैना, 15 दिसम्बर। कोतवाली थाना क्षेत्र के तुस्सीपुरा इलाके में बीती शाम हुई हत्या की वारदात के बाद आक्रोशित लगभग दो दर्जन गुर्जरों ने आज सुबह कलेक्टर बंगले का घेराव कर दिया। ट्रेक्टर अड़ा कर चक्काजाम कर रहे लोगों ने हत्यारोपियों को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की। मुरैना में कलेक्टर के उपस्थित न रहने पर टीआई कोतवाली प्रवीण अष्ठाना के आश्वासन उपरांत आधा घंटे बाद जाम खोल दिया गया।
उल्लेखनीय है कि रविवार की शाम नामजद लोगों ने तुस्सीपुरा में रामवीर गुर्जर नामक युवक की गोली मार कर हत्या कर दी थी और मौका ए वारदात से फरार हो गए थे।
रामवीर की हत्या के बाद गुर्जर समाज के लोग आक्रोशित हो कर सोमवार की सुबह कलेक्टर बंगले पर पहुंच गए। न्याय की मांग कर रहे लोगों ने कलेक्टर एमके अग्रवाल से आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार करने की बात कही। कोतवाली थाना पुलिस ने इस मामले में बीती रात रामवीर गुर्जर निवासी गोरखा की मौत पर फरियादी नरेन्द्र पुत्र रामवीर गुर्जर की रिपोर्ट पर आरोपी राजेन्द्र, समोखन, सुरेन्द्र, जितेन्द्र, रंजीत, विशम्भर सभी जाति गुर्जर निवासीगण गोरखा के खिलाफ धारा 302, 147, 148, 149 आईपीसी के तहत अपराध कायम किया था। पुलिस का कहना है कि दोनों गुटों के बीच किसी विवाद को लेकर एक लम्बे समय से रंजिश चल रही है। इसी के ऊपर अब तक दोनों पक्षों के बीच कई मर्डर हो चुके हैं। इसी रंजिश के सिविल लाइन थाना और सरायछोला थाने में भी कई अपराध आरोपीगणों के खिलाफ पंजीबध्द हैं। मृतक रामवीर गुर्जर इसी दुश्मनी के कारण तुस्सीपुरा में आकर रहने लगा था। लेकिन आरोपीगण यहां भी आ धमके और शिवपुरी वाली के घर के समीप रामवीर को पकड़ लिया तथा नामजद लोगों ने एक राय हो कर उस पर हमला कर दिया। इस घटनाक्रम में रामवीर जब जान बचाने के लिए भागने लगा तो आरोपियों ने गोली मार कर उसकी हत्या कर दी। इस घटना के बाद सक्रिय हुई कोतवाली पुलिस ने रात में ही कई स्थानों पर दविश दी लेकिन आरोपीगण मौका ए वारदात से फरार हो चुके थे। रामवीर की हत्या के बाद उसके परिजन और शुभचिंतक आरोपियों की गिरफ्तारी तथा सुरक्षा के इंतजामों की मांग को लेकर कलेक्टर बंगले पर पहुंच गए। यहां पीड़ित पक्ष के लोगों ने मुख्य मार्ग एमएस रोड पर ट्रेक्टर ट्राली आड़ी अड़ा कर मार्ग को अवरुध्द कर दिया। यह कार्रवाई लगभग आधा घंटे तक चली। बाद में भारी फोर्स की आमद और टीआई कोतवाली श्री अष्ठाना की समझाईश तथा आश्वासन के उपरांत जाम खोल दिया गया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण