नैपरी, पचेखा और गुलपुरा में चिकित्सक दल तैनात : स्थिति में सुधार

नैपरी, पचेखा और गुलपुरा में चिकित्सक दल तैनात : स्थिति में सुधार
गुलपुरा गांव में प्राथमिक विद्यालय कल से शुरू

मुरैना 11 सितम्बर 08/ कलेक्टर श्री रामकिंकर गुप्ता ने आज कैलारस विकास खण्ड के ग्राम नैपरी, पचेखा और गुलपुरा का भ्रमण किया । भ्रमण के समय चिकित्सक दल उन्हे गांव- गांव में उपचार करते हुए तैनाम मिला । खण्ड स्तरीय चिकित्सक दल पूरे समय ग्राम में रहकर चिकित्सा सुबिधा उपलब्ध करा रहा है । स्थिति अब पूर्णत: नियंत्रण एवं सुधार की ओर है । इस अवसर पर अनुविभागीय अधिकारी सबलगढ़ श्री भदौरिया, जिला टीकाकरण अधिकारी श्री मंगल, शिक्षा, महिला एवं बाल विकास विभाग के खण्ड स्तरीय अधिकारी एवं ग्राम पंचायत सरपंच श्रीमती शकुन्तला उपाध्याय सहित ग्रामीण जन उनके साथ थे ।
उल्लेखनीय है कि कैलारस विकास खण्ड के ग्रामों में मेलरिया की शिकायतें प्राप्त होने पर कलेक्टर श्री रामकिंकर गुप्ता ने ग्राम नैपरी में स्थिति का जायजा लिया । वहां चिकित्सक दल 95 मरीजों का परीक्षण कर चुका था । कलेक्टर श्री रामकिंकर गुप्ता को बताया कि गया रमेश जाटव और सामलिया जाटव की मृत्यु दो दिन पूर्व हुई है । कलेक्टर ने मौके पर अन्त्येष्टी के लिए दो-दो हजार रूपये नगद दिये और 20-20 हजार रूपये की राशि कर्मकार मण्डल से सहायता प्रदान करने तथा मृतकों की पत्नियों को पेंशन स्वीकृत करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये । पहाडगढ़ में पदस्थ एक्सरे टेक्नीशियन को कैलारस में पदस्थ करने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिये । ग्रामीणों की मांग पर उन्होंने एम्बूलेस को शीघ्र दुरूस्त करने के निर्देश अधिकारियों को दिये ।
श्री गुप्ता ने अनु¬.जाति मोहल्ला में जनभागीदारी की सर्त पर सी.सी. खरंजा के ऐस्टीमेट बनाने के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये। ग्राम गुलपुरा में ग्रामीणों की मांग पर प्राथमिक विद्यालय कल 12 सितम्बर से खोलने के निर्देश बी.आर.सी. को दिये । किशरोली के निलंबित शिक्षक और ग्रांव के इण्टर परीक्षा उत्तीर्ण व्यक्ति को अतिथि शिक्षक रखने के निर्देश संबधित अधिकारियों को दिये । ग्राम पचेखा में आंगनवाड़ी केन्द्र नियमित नहीं खुलने पर कार्यकर्ता को नोटिस जारी करने के निर्देश भी दिये । उन्होंने मध्यान्ह भोजन का भी निरीक्षण किया और बी.आर.सी. तथा खण्ड स्तरीय शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्रत्येक दिन मध्यान्ह भोजन का निरीक्षण करें, जिससे मध्यान्ह भोजन व्यवस्था में सुधार किया जा सके ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की आज अंतिम तारीख आज 17 उम्मीदावरों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये

14 स्थान कंटेनमेंट जोन से मुक्त

कवल वन्यजीव अभयारण्य में वन भूमि का अतिक्रमण